नितिन गडकरी बोले- बातचीत से खत्‍म होगा किसान आंदोलन

by

New Delhi: किसानों के आंदोलन के बीच केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने कृषि कानूनों का समर्थन किया है. उन्होंने कहा कि सरकार किसानों के साथ अन्याय नहीं करेगी. नितिन गडकरी ने कहा कि फिलहाल कृषि और वाणिज्य मंत्री किसानों से बातचीत कर रहे हैं. वह बोले, ‘अगर मुझसे किसानों से बातचीत करने को कहा जाएगा तो वह जरूर ऐसा करेंगे.’

बता दें कि किसानों के आंदोलन का आज 20वां दिन है. गडकरी (Nitin Gadkari on Farmers Protest) ने कहा कि उनकी सरकार बातचीत के जरिए समाधान निकाल लेगी.

नितिन गडकरी बोले – बातचीत से हल होगा मुद्दा

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि किसानों को इन कानूनों को समझना चाहिए. हमने किसानों के खिलाफ कुछ नहीं किया. किसानों को यह अधिकार है कि वह मंडी में अपनी फसल बेचें या फिर ट्रेडर को.

Read Also  मानभूम-जंगलमहल क्षेत्रीय प्रशासन का अविलंब गठन हो: सुदेश महतो

बता दें कि सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने सोमवार को केन्द्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर को एम एस स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें लागू करने समेत विभिन्न मांगों को पूरा करने में ”नाकाम” रही केन्द्र सरकार के खिलाफ ”अनशन” शुरू करने की चेतावनी दी. अन्ना ने केन्द्र सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग को लेकर आठ दिसंबर को किसान संगठनों के भारत बंद के दौरान उपवास भी रखा था.

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि किसानों को इन कानूनों को समझना चाहिए. हमारी सरकार किसानों के लिए काम करने को प्रतिबद्ध है और उनके दिए सुझावों का भी स्वागत है. इस सरकार में किसानों के साथ कोई अन्याय नहीं होगा. कुछ तत्व (लोग) किसानों के आंदोलन का इस्तेमाल कर उन्हें भटकाने की कोशिश कर रहे हैं. यह गलत है. किसानों को तीनाों कानूनों को समझना चाहिए.

Read Also  ओरमांझी के Pundag Toll Plaza से सरकार को अब तक मिला 3 अरब 85 करोड़ से अधिक राजस्व, MEP Infrastructure पर करोड़ों बकाया

भविष्य की योजनाओं पर बात करते हुए गडकरी ने कहा कि आने वाले वक्त में प्लेन ऐसे ईंधन से उड़ेंगे जो इथेनॉल ने बनेगा. इसका पैसा भी किसानों को मिलेगा.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.