Take a fresh look at your lifestyle.

भाजपा से पंगा पड़ा महंगा, अपने ही पार्टी से निकाले गए बंधु तिर्की

0 34

Ranchi: जेवीएम के विधायक बंधु तिर्की को झारखंड विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ चुनाव प्रचार करना महंगा पड़ा. झारखंड विकास मोर्चा ने हटिया विधानसभा सीट की उम्‍मीदवार शोभा यादव की शिकायत पर बंधु तिर्की खिलाफ कार्रवाई की है. जेवीएम ने बंधु तिर्की को पार्टी से निष्‍कासित करने का ऐलान किया है.

जेवीएम विधायक बंधु तिर्की को पार्टी से निष्‍कासित करने का ऐलान करते हुए नवनियुक्‍त प्रधान महासचिव अभय सिंह ने कहा कि बंधु ने हटिया विधानसभा चुनाव के दौरान पार्टी विरोधी प्रचार किया था. इसकी शिकायत वहां की उम्‍मीदवार शोभा यादव ने साक्ष्‍यों के साथ उपलब्‍ध किया था. इस शिकायत पर बंधु तिर्की को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था. उन्‍होंने तय समय सीमा 48 घंटे के अंदर जवाब नहीं दिया. इसलिए केंद्रीय अध्‍यक्ष बाबूलाल मरांडी के निर्देश पर उन्‍हें पार्टी से निष्‍कासित किया जाता है.

बंधु तिर्की के खिलाफ कार्रवाई में जेवीएम ने कहा है कि उन्‍हें 17 जनवरी 2020 को दिन के 11 बजे कारण बताओ नोटिस दिया गया. जिसका जवाब उन्‍होंने तय समय सीमा 48 घंटे के अंदर अपना जवाब नहीं रखा.

इसके पहले मांडर विधायक बंधु तिर्की ने मीडिया से बात करते हुए दावा किया था कि वह 48 घंटे के अंदर जेवीएम के नोटिस का जवाब देंगे. साथ ही उन्‍होंने कहा था कि विधानसभा चुनाव के दौरान हटिया सीट के लिए मैंने भाजपा के खिलाफ कांग्रेस पार्टी के उम्‍मीदवार के लिए प्रचार किया था. इसी पर पार्टी की ओर से जवाब मांगा गया है. उन्‍होंने कहा कि तब हमारा मकसद था कि भजपा को हराना है. मैंने भी वही किया और गलत नहीं किया.

बंधु पर कार्रवाई जेवीएम के भाजपा में विलय की ओर एक और कदम

झारखंड चुनाव में 81 सीटों पर चुनाव लड़कर 3 सीटें जीतने वाली जेवीएम भाजपा में विलय को लेकर चर्चा में है. यह चर्चा हालांकि चुनाव से पहले से है. वहीं अब पार्टी की गतिविधियां इसी की ओर ज्‍यादा इशारा कर रहे हैं. इस बीच अब जेपीएम प्रमुख बाबूलाल मरांडी के भाजपा विरोधी तेवर भी नरम हो गये हैं.

हर मंच पर भाजपा के खिलाफ मुखर होकर आवाज उठाने वाले विधायक बंधु तिर्की के जेवीएम से निष्‍कासन की कार्रवाई को भी पार्टी के भाजपा विलय से देखा जा रहा है. निष्‍कासन से पहले बंधु तिर्की जेवीएम के संभावित विलय का विरोध करते रहे हैं.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.