Pariksha Pe Charcha 2021 में PM Modi स्‍टूडेंट्स को दिए Exam Motivation Tips

by

Pariksha Pe Charcha 2021: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को अपने लोकप्रिय कार्यक्रम ‘परीक्षा पे चर्चा’ 2021 में देश भर के छात्रों से 14 लाख रजिस्टर्ड छात्रों, अभिभावकों एवं अध्यापकों से चर्चा की. पीएम मोदी ने इस ऑनलाइन इंटरैक्शन के दौरान डिजिटल मोड में सभी के सवालों के जवाब दिए. पीएम मोदी ने इस दौरान एक सवाल के जवाब में कहा, परीक्षा को लेकर तनाव न लें. परीक्षा से डरना नहीं चाहिए. माता पिता को बच्चों पर परीक्षा को लेकर तनाव नहीं लेना चाहिए. उन्होंने आगे कहा कि बच्चों की सहज एवं तनावमुक्त रखना है.

Read Also  झारखंड में 22 से 29 अप्रैल तक संपूर्ण लॉकडाउन, जानिए क्‍या है गाइडलाइन

पीएम मोदी ने देश भर के स्कूलों में सीनियर कक्षाओं 9वीं से लेकर 12वीं तक के छात्रों के लिए आयोजित होने वाली वार्षिक एवं बोर्ड परीक्षाओं को लेकर होने वाले तनाव को लेकर प्रधानमंत्री ने कई महत्वपूर्ण टिप्स दिये. ऑनलाइन इंटरैक्शन के दौरान एक अभिभावक के पूछे गये सवाल के जवाब में पीएम मोदी ने कहा, पैरेंट्स को लगातार इस बात को चेक करते रहना चाहिए कि कहीं आप अपने विचार व्यवहार से बच्चों पर कितना असर हो रहा है. बच्चों को देने वाले मूल्यों को जीकर उन्हें प्रेरित करने का प्रयास करें. आपके आचार-व्यवहार से बच्चे सीखते हैं.

छात्रों को पीएम मोदी ने दिया टास्क

पीएम नरेंद्र मोदी ने ‘परीक्षा पे चर्चा’ के दौरान जब वो कार्यक्रम के समापन की ओर थे तब उसके ठीक पहले पीएम मोदी बच्चों को एक टास्क भी दिया था. पीएम मोदी ने बच्चों को परीक्षाओं की समाप्ति हो जाए तो वो लोग देश के आजादी में योगदान देने वाले महापुरुषों के प्रोजेक्ट बनवाइए. पीएम मोदी ने कहा कि इस बा देश अपनी आजादी का 75वां साल मनाएगा. उन्होंने इस दौरान ये भी कहा कि इस प्रोजेक्ट को बनाने में अपने बड़ों टीचर्स से गाइडेंस भी लीजिए.

Read Also  झारखंड में 22 से 29 अप्रैल तक संपूर्ण लॉकडाउन, जानिए क्‍या है गाइडलाइन

पीएम मोदी ने दिए बच्चों को मोटिवेट रखने के टिप्स

‘परीक्षा पे चर्चा’ कार्यक्रम के दौरान एक अन्य पैरेंट्स द्वारा बच्चों को मोटिवेट करने के उपाय के लिए मांगे गये टिप्स पर जवाब देते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि, बच्चे बहुत एक्टिव होते हैं. पीएम मोदी ने कहा कि हमें बड़े होने के बावजूद अपना मूल्यांकन करना चाहिए. हम एक सामाजिक सांचा बना देते हैं कोशिश करते हैं बच्चे उसी में ढल जाएं. हम जाने-अनजाने बच्चों को इंस्ट्रूमेंट मान लेते हैं. बच्चों को मोटिवेट करने का तरीका ट्रेनिंग. ट्रेनिंग के लिए अच्छी किताबें, मूवी या अच्छी कविता का सहारा लिया जा सकता है. यदि आप चाहते हैं कि बच्चा सुबह उठकर पढ़ें, बच्चे सामने ऐसी चर्चा करें कि सुबह उठने के क्या फायदे हैं.

Read Also  झारखंड में 22 से 29 अप्रैल तक संपूर्ण लॉकडाउन, जानिए क्‍या है गाइडलाइन

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.