बैलेट पेपर से वोटिंग की मांग पर चुनाव आयोग का इनकार

by

New Delhi: ईवीएम को लेकर जारी विवाद और बहस के बीच मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा है कि बैलेट पेपर से हरगिज चुनाव नहीं होंगे.

एनडीटीवी की खबर के मुताबिक दिल्ली में एक समारोह में शिरकत कर रहे मुख्य चुनाव आयुक्त ने स्पष्ट किया है कि हम बैलेट पेपर के युग में वापस जाने वाले नहीं हैं.

ईवीएम हैकर ने किया था दावा

गौतलब है कि लंदन में सैयद शुजा नाम के एक कथित ईवीएम हैकर ने प्रेस कांफ्रेंस में दावा किया था कि भारत की ईवीएम मशीनों को हैक किया जा सकता है.

साथ ही शुजा ने कहा था कि साल 2014 के लोकसभा चुनाव में ईवीएम के साथ छेड़छाड़ हुई थी. शुजा के इन दावों के बाद चुनाव आयोग की शिकायत पर उनके खिलाफ मामला भी दर्ज किया गया है.

इसके बाद सत्ता- विपक्ष में शामिल दलों के बीच एक दूसरे पर निशाना साधे जाना लगा. साथ ही ईवीएम से चुनाव कराने या नहीं कराने के सवाल पर बहस भी छिड़ी हुई है. आम आदमी पार्टी पहले से ही बैलेट पेपर से चुनाव कराने पर जोर देती रही है. इधर शुजा के सामने आने के बाद आप के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने कहा था कि इन हालिया खुलासों से स्पष्ट रूप से ईवीएम की निष्पक्षता धूमिल हुई है.

जबकि भाजपा ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा था कि यह प्रेस कॉन्फ्रेंस कांग्रेस प्रायोजित है. केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने पूछा था कि कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल वहां किस हैसियत से थे और वहां क्या कर रहे थे.

इसके साथ ही उन्होंने कहा था कि जब कोई विपक्षी दल जीतता है तो ईवीएम सही है, लेकिन भाजपा जीतती है तो ईवीएम मशीन में छेड़छाड़ी हो जाती है. इसके बाद कांग्रेस ने भी भाजपा पर पलटवार किया था.

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.