लॉक डाउन में घरेलू हिंसा के खिलाफ एकजुट हुआ बॉलीवुड

by

कोरोना संकट से निपटने को लागू किए गए लॉकडाउन के दौरान देशभर में घरेलू हिंसा के मामले 95 फीसदी तक बढ़ गए हैं. राष्ट्रीय महिला आयोग ने देशव्यापी बंद से पहले और बाद के 25 दिनों में विभिन्न शहरों से मिली शिकायतों के आधार पर यह दावा किया है. आयोग की मानें तो लॉकडाउन में महिलाओं से घरेलू हिंसा के मामले लगभग दोगुने बढ़ गए हैं. देश में बढ़ती घरेलू हिंसा के खिलाफ आवाज उठाने के लिए बॉलीवुड सेलेब्स से लेकर खिलाड़ी भी साथ नजर आये.

हाल ही में एक वीडियो रिलीज किया गया है जिसमें विराट कोहली, अनुष्का शर्मा, माधुरी दीक्षित नेने और विद्या बालन, फरहान अख्तर, करण जौहर, जैसी कई हस्तियां लोगों को घरेलू हिंसा के खिलाफ आवाज उठाने का संदेश देते नजर आ रहे हैं. इस वीडियो में सेलेब्स अपील करते नजर आ रहे हैं. वीडियो में सभी साथ मिलकर कह रहे हैं कि घरेलू हिंसा के खिलाफ चुप न बैठें और अपनी आवाज उठाएं.

Read Also  बॉलीवुड के जूनियर आर्टिस्ट का लॉकडाउन में गुजारा करना हुआ मुश्किल

वीडियो सें सभी एक साथ कह रहे हैं कि ‘लॉकडाउन में, घरेलू हिंसा के मामले बढ़ गए हैं. हम सभी पुरुषों को कहते हैं, यही समय है हिंसा के खिलाफ खड़े होने का. महिलाओं से हम कहना चाहते हैं, यही समय है अपनी चुप्पी तोड़ने का. अगर आप घेरलू हिंसा का शिकार हैं, फिर चाहे वो घर पर हों, आपको रिपोर्ट करना चाहिए. घरेलू हिंसा पर भी लॉकडाउन लगाया जाए.

आपको बता दें कि राष्ट्रीय महिला आयोग ने इस साल 27 फरवरी से 22 मार्च के बीच और लॉकडाउन के दौरान 23 मार्च से 16 अप्रैल के बीच मिली शिकायतों की तुलना के बाद जो आंकड़े जारी किए हैं उसके मुताबिक, बंद से पहले आयोग को घरेलू हिंसा की 123 शिकायतें मिली थीं जबकि लॉकडाउन के दौरान ऑनलाइन व अन्य माध्यम से घरेलू उत्पीड़न के 239 मामले दर्ज कराए गए.

Read Also  कोरोना संकट के बीच देश छोड़कर विदेश में बसने की तैयारी में बड़े उद्योगपति और अमीर

सम्मान की लड़ाई: इसके बाद सबसे ज्यादा शिकायतें परिवार में सम्मान के साथ जीने के हर को लेकर आईं. पहले 25 दिनों में 117 महिलाओं ने भेदभाव का आरोप लगाया. वहीं, लॉकडाउन के दौरान 166 महिलाओं/ युवतियों ने समाज व परिवार में सम्मान के साथ जीने का अधिकार दिलाने की बात कही. इसी तरह साइबर अपराध के भी जहां पहले 396 मामले आए वहीं बाद में 587 शिकायतें मिलीं.

दहेज उत्पीड़न के मामले घटे: आयोग के अनुसार, लॉकडाउन के दौरान दहेज उत्पीड़न के मामलों में गिरावट आई. पहले 25 दिनों में 44 मिली थीं. जबकि लॉकडाउन के दौरान 37 मामले सामने आए. इसी तरह पहले 25 दिनों में छेड़खानी के 25 मामले सामने आए जबकि लॉकडाउन के दौरान 15 शिकायतें मिलीं.

Read Also  कोरोना संकट के बीच देश छोड़कर विदेश में बसने की तैयारी में बड़े उद्योगपति और अमीर

महिला आयोग ने बीते 10 अप्रैल को महिलाओं की मदद के लिए व्हाट्सएप नंबर 7217713537 जारी किया था. छह दिन में इस पर घरेलू हिंसा की 40 शिकायतें मिली हैं. आयोग का कहना है कि महिलाओं की शिकायतों पर तत्काल कार्यवाही की जा रही है. उन्हें मदद भी पहुंचाई जा रही है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.