दिउड़ी दिरी संचालन व्‍यवस्‍था वापसी के लिए सीएम से मिला झारखंड आदिवासी महासभा

by
Advertisements

Ranchi: दिउड़ी दिरी (मंदिर) के संचालन व्यवस्था गांव के स्थानीय आदिवासी समाज के हाथों में होना चाहिये, न कि विधायक, सांसद और प्रशासन के द्वारा बनाये गए कमिटी के हाथों में. इसी मांग को लेकर झारखंड आदिवासी महासभा ने सीएम हेमंत सोरेन को ज्ञापन सौंपा. 

दिउड़ी  दिरी (दिउड़ी  पत्थर)  की दान पेटी सील

महासभा ने मुख्यमंत्री को बताया कि 16 अक्टूबर को प्रशासन द्वारा  रांची जिला के तमाड़ प्रखंड स्थित  दिउड़ी  दिरी (दिउड़ी  पत्थर)  की दान पेटी को सील कर दिया गया  है. इसके अलावा 18 अक्टूबर को आदिवासी सभा के कुछ  सदस्यों के खिलाफ  मुकदमा भी दर्ज  किया गया है.  इससे आदिवासी मूलवासी समाज काफी आहत है.

पदाधिकारियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने का आग्रह

उन्होंने मुख्यमंत्री से  दान पेटी का ताला खोलने,  दिउड़ी  दिरी  का प्रबंधन वापस ग्राम सभा को सौंपने और ग्राम सभा में शांति भंग करने  को लेकर संबंधित पदाधिकारियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने का आग्रह किया. मुख्यमंत्री को  ज्ञापन सौंपने वालों में झारखंड आदिवासी महासभा के संयोजक राधा कृष्ण सिंह मुंडा, सहसंयोजक यादूगोपाल सिंह मुंडा, दिउड़ी  दिरी  की ग्राम प्रधान श्रीमती सुमित्रा देवी के अलावा अमर सिंह मुंडा, दुखन सिंह मुंडा,  देवी प्रसाद सिंह मुंडा, मानकीजगन्नाथ सिंह , गणेश सरदार, सोनू सिंह , संजय सरदार और हिमांशु सरदार समेत  कई सदस्य शामिल थे.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.