Take a fresh look at your lifestyle.

विपक्ष की चुनाव आयोग से मांग- वीवीपैट में गड़बड़ी होने पर 100 फीसदी मिलान हो

0

New Delhi: लोकसभा चुनाव नतीजे आने में दो दिन बचे हुए हैं. इस बीच 22 विपक्षी दलों ने मंगलवार को चुनाव आयोग से मुलाकात की. इस मुलाकात में विपक्षी दल के नेताओं ने वीवीपैट को लेकर चुनाव आयोग को एक ज्ञापन सौंपा.

उन्होंने ज्ञापन में कहा कि अगर किसी मतदान केंद्र में वीवीपैट के सत्यापन में कोई गड़बड़ी पाई जाती है तो आयोग उस विधानसभा क्षेत्र के सभी मतदान केंद्रों के वीवीपीएटी के पेपर स्लिप का 100 फीसदी मिलान करे.

अपने ज्ञापन में उन्होंने चुनाव आयोग से अनुरोध किया कि वीवीपैट के सत्यपान के लिए वोटर स्लिप का मिलान मतगणना के शुरुआत में किया जाये ना कि आखिरी चरण की काउंटिग के बाद.

चुनाव आयोग से VVPAT को लेकर पूछे सवाल

कांग्रेस के नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने विपक्षी दलों की चुनाव आयोग के साथ बैठक के बाद मीडिया को बताया कि हम इन मु्द्दो को पिछले डेढ़ साले उठा रहे हैं. हमने चुनाव आयोग आयोग से पूछा कि वो इस पर प्रतिक्रिया क्यों नहीं दे रहे हैं.

उन्होंने आगे कहा कि ये अजीब बात है कि चुनाव आयोग ने हमें डेढ़ घंटे सुना और आश्वासन दिया कि वे कल सुबह फिर से मिलेंगे ताकि इन दोनों प्रमुख मुद्दों पर विचार किया जा सके.

दिल्ली में जुटे विपक्षी नेता

विपक्षी दलों की चुनाव आयोग से मुलाकात से पहले दिल्ली के कॉन्स्टिट्यूश क्लब में विपक्षी दलों की संयुक्त बैठक हुई. इसमें 22 पार्टियों के नेता शामिल हुए.

इसमें ईवीएम के साथ वीवीपीएट के मिलान को लेकर चर्चा हुई. मीडिया की खबरों के अनुसार इस मीटिंग में एग्जिट पोल को लेकर भी चर्चा हुई. गैर एनडीए गठबंधन को लेकर इस बैठक में चर्चा की खबरें हैं.

कांग्रेस के अलाव टीडीपी, लेफ्ट, बीएसपी, एसपी, एनसीपी और टीएमसी के नेताओं ने बैठक में हिस्सा लिया. कांग्रेस के सीनियर नेता गुलाम नबी आजाद, बीएसपी के सतीश चंद्र मिश्रा, एनसीपी चीफ शरद पवार और वामपंथी दलों से सीताराम येचुरी बैठक में शामिल हुए.

शाम को एनडीए की बैठक

अमित शाह की ओर से एनडीए के नेताओं को मंगलवार को डिनर पर बुलाया गया है. डिनर में होने वाली इस बैठक में सभी नेता मौजूद रहेंगे. इस दौरान पीएम मोदी भी एनडीए की मीटिंग में रहेंगे.

मंगलवार की विपक्षी दलों की मीटिंग से पहले सोमवार को भी टीडीपी चीफ चंद्रबाबू नायडू ने कई नेताओं से मुलाकात की थी. उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ सोमवार को मीटिंग की थी. इसके अलावा पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी से मिलने के लिए कोलकाता भी पहुंचे थे. माया अखिलेश की लखनऊ में मीटिंद हुई थी.

एग्जिट पोल में एनडीए को बहुमत

रविवार शाम आए अधितकर एग्जिट पोल में पीएम मोदी की प्रधानमंत्री पद पर वापसी की संभावना का अनुमाल लगाया है. अधिकतर एग्जिट पोल में एनडीए को आसानी से बहुमत मिलता दिख रहा है. कई एग्जिट पोल में ये भी कहा गया है बीजेपी अपने दम पर सरकार बना लेगी.

गौरतलब है कि साल 2014 के चुनाव में एनडीए को 336 और यूपीए को 60 सीटें मिली थी. बीजेपी को पांच साल पहले हुए आम चुनाव में बीजेपी को 282, कांग्रेस 44 और अन्य को 147 सीटें मिली थीं. साल 2014 से पहले देश में कांग्रेस की अगुवाई में यूपीए ने दस साल तक लगातार सरकार चलाई थी.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More