आदिवासी महिला दारोगा रूपा तिर्की मौत की सीबीआई जांच की मांग

by

Ranchi: साहिबगंज की महिला थाना प्रभारी रूपा तिर्की का शव बुधवार की सुबह रांची स्थित पैतृक गांव रातू लाया गया. इसके बाद रातू थाना में शव का अंतिम संस्कार किया गया. इस बीच भाजपा के विधायक नवीन जायसवाल ने मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन को एक पत्र लिखा है. इस पत्र में विधायक ने मुख्‍यमंत्री से रूपा तिर्की की मौत की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है. इसके पहले भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा ने भी इस मामले की जांच सीबीआई से कराने के लिए राज्‍यपाल को पत्र लिखा है. वहीं झारखंड के कई सामाजिक  संगठन और नेता भी सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं.

सीबीआई जांच के लिए हेमंत सोरेन को पत्र

भाजपा विधायक नवीन जायसवाल ने बताया कि पिछले दिनों मेरे विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत काठीटांड तिलता बगीचा,रातू की निवासी वर्तमान में साहेबगंज महिला थाना की प्रभारी रूपा तिर्की के आत्महत्या की खबर से मन बहुत व्यथित हो गया था. इस घटना की विस्तृत जानकारी लेने,आत्महत्या की संदिग्ध तस्वीरें और अन्य कई परिपेक्ष्यों को सुनने व देखने के उपरांत मुझे ऐसा प्रतीत होता है कि उनकी आत्महत्या की घटना पूरी तरह संदिग्ध है, संभव है कि रूपा तिर्की किसी बड़ी साजिश की शिकार हो गयी है.

आज मैंने इस संदर्भ में झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को पत्र लिख कर इस मामले की सीबीआई जांच करवाने की मांग की है ताकि झारखंड की बेटी को न्याय और इस घटना के पीछे संलिप्त दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा मिल सके.

भाजपा महिला मोर्चा के अध्‍यक्ष आरती कुजुर और प्रदेश महामंत्री सीमा सिंह ने राज्‍यपाल के नाम पत्र में कहा है कि साहिबगंज जिले में पदस्थापित महिला थाना प्रभारी रूपा तिर्की के तथाकथित आत्महत्या के मामला संदेहास्पद प्रतीत होता है. मृतका की मां द्वारा दिए गए आवेदन से भी यह स्पष्ट होता है कि एक साजिश के तहत सत्ता पर पहुंच रखने वाले लोगों ने पुलिस विभाग में तैनात सहकर्मियों के मिलीभगत से रूपा तिर्की की हत्या की है और उसे आत्महत्या का रूप देने की कोशिश की गई है.

Read Also  झारखंड में संस्कृत विद्यालयों के लिए 5 करोड़ 10 लाख और मदरसों के लिए 58 करोड़ 85 लाख रुपए आर्थिक सहायता की मंजूरी

प्रदेश महिला मोर्चा ने राज्‍यपाल से मांग करते हुए कहा है कि एक मेडिकल टीम गठित कर मृतका रूपा तिर्की के शव का पोस्टमार्टम किया जाए. मृतका की मां द्वारा लगाए गए हत्या के आरोपी व्यक्तियों को अविलंब गिरफ्तार किया जाए. ताकि, निष्पक्ष जांच को प्रभावित ना किया जा सके. साथ ही  हत्या की जांच की सीबीआई के द्वारा कराई जाए.

भाजपा नेता बाबूलाल मरांडी ने बयान जारी कर कहा है कि मौत के बाद जिस प्रकार से परिजनों ने आरोप लगाया है वह संदेहास्पद मौत की श्रेणी में आता है. उन्होंने कहा कि मृत महिला की मां के द्वारा दिए गए आवेदन मामले की गंभीरता को समझने के लिए पर्याप्त है. मामला बेहद संवेदनशील है. आरोप ऐसे प्रभावशाली व्यक्ति पर है जो इस सरकार में पहले से ही बदनाम एवं कुख्यात रहा है. जो मामले को रफादफा करवाने का प्रयास कर सकता है और सारे सबूत मिटवा सकता है.

रूपा तिर्की की मां का आरोप

रूपा तिर्की की मां ने थाना में एफआईआर दर्ज कराते हुए दो महिला दारोगा और शहर के प्रभावशाली व्यक्ति पंकज मिश्रा के खिलाफ लिखित आवेदन दिया है. उन्होंने इन तीन लोगों को अपनी बेटी की मौत की वजह बताई है. पंकज मिश्रा के पास दोनों दारोगा मेरी बेटी को लेकर गईं थी जहां से मेरी बेटी की परेशानी बढ़ चुकी थी. उन्होंने लिखा कि रूपा के शरीर पर कई जगह चोट के निशान हैं इससे साबित होता है कि यह सोची समझी साजिश के तहत आत्महत्या का रूप दिया गया है.

रूपा के परिवार वालों ने आरोप लगाया है कि उसके साथी पुलिसकर्मी उसकी सफलता को लेकर जलते थे और आए दिन रूपा को टॉर्चर किया करते थे. रूपा की मां ने बताया कि सोमवार दोपहर करीब 3 बजे रूपा से उसकी बात हुई थी. बातचीत के दौरान रूपा ने बताया था कि उसने जो पानी पिया है, वह दवाई जैसा लग रहा है. मां ने बताया कि उसकी सहकर्मी ह्यूमन ट्रैफिकिंग थाना प्रभारी मनीषा और नगर थाना में पदस्थापित ज्योत्सना, रूपा की पदोन्नति से जलते थे.

रूपा के महिला थाना प्रभारी बनने, क्वार्टर और गाड़ी मिलने पर दोनों अक्सर उसे टॉर्चर किया करते थे. वहीं रूपा की बहन निर्मला तिर्की ने बताया कि‍ कुछ दिन पहले भी मनीषा और ज्योत्सना, रूपा को लेकर किसी पंकज मिश्रा से मिले थे. यहां तीनों ने मिलकर रूपा को काफी प्रताड़ित भी किया था. हालांकि किस तरह से उसे प्रताड़ित किया गया था, यह उसने नहीं बताया. उसने कहा कि‍ उसके साथ गलत व्यवहार किया गया था.

Read Also  31 वर्षीय विधायक अंबा प्रसाद पर FIR, 48 लाख अवैध निकासी का आरोप

आदिवासी संगठनों बताया षडयंत्र

इस संबंध में आदिवासी जनपरिषद के अध्यक्ष प्रेमशाही मुंडा ने कहा कि आदिवासी महिला अधिकारी का फांसी कर आत्महत्या करना एक षड़यंत्र है. आरोप लगाया कि यह आत्महत्या नही हत्या है. इससे पहले भी आदिवासी पुलिस पदाधिकारियों के खिलाफ उच्चतम पदाधिकारियों के द्वारा शोषण और दमन किया जाता रहा है और उन्हें गलत काम करने के लिए दबाव दिया जाता रहा है. आदिवासी समाज के पदाधिकारी हमेशा कर्तव्य का निर्वाहन करनते आ रहे है और गलत काम करने से डरते है. रूपा तिर्की ने आत्महत्या नही की है. उसे सिस्टम के द्वारा हत्या की गई हैं.

वही झारखंड सरकार के ट्राइबल एडवाइजरी काउंसिल के पूर्व सदस्य रतन तिर्की ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर आत्महत्या की घटना को हत्या की साजिश बताते हुए जांच की मांग की है. उन्होंने पत्र में कहा कि यदि रूपा तिर्की ने आत्महत्या की है तो उसके कारणों का भी खुलासा होना चाहिए. उन्होंने कहा कि प्रथम दृष्टया में मृतका की लाश जिस अवस्था में थी. उसे देखकर शक पैदा हो रहा हैं. रतन तिर्की ने मुख्यमंत्री के अलावा गृह सचिव राजीव अरुण एक्का, पुलिस महानिदेशक नीरज सिन्हा से परिजनों व मृतक को न्याय दिलाने की बात कही हैं. दूसरी ओर गिरीडीह जिला की समाज कल्याण पदाधिकारी अलका हेम्ब्रोम ने भी सोशल मीडिया में मृतक महिला थाना प्रभारी की मौत पर शोक जाहिर की है. उन्हेांने कहा कि जब मैं साहिबगंज में पदास्थपित हुई थी. तो मृतका से पहली बार मुलाकात हुई थी. पहली मुलाकात के बाद वह हर कार्यक्रम में मुझे आमंत्रित करती थी और महिला संबंधी बातों व मेरी भाषणों केा गंभीरता से सुनती थी. मृतका मुझसे कहती थी कि आपकी बातें काफी प्रेरणादायक होती है.

रूपा तिर्की की मौत और पंकज मिश्रा

झारखंड के साहिबगंज जिले में तैनात सब इंस्पेक्टर रूपा तिर्की ने 3 मई की शाम को अपने सरकारी क्वार्टर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी. जिसके बाद रूपा की मां ने 2 महिला दारोगा पर अपनी बेटी को प्रताड़ित करने का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया है दोनों महिला दरोगा रूपा की बैचमेट है.

सब इंस्पेक्टर रूपा तिर्की की मौत सोमवार की शाम को संदिग्ध परिस्थितियों में हो गई. उसका शव उसके सरकारी क्वार्टर में पंखे से लटका हुआ था उसी फ्लाइट के एक कमरे में रहने वाली मनीषा कुमारी शाम को लौटी तो उसने कमरा बंद पाया. शक होने पर उसने वरीय पुलिस पदाधिकारियों को मामले की जानकारी दी. सूचना मिलने के बाद एसपी अनुरंजन, मुख्यालय डीएसपी संजय कुमार, सदर एसडीपीओ राजेंद्र दुबे, इंस्पेक्टर शशिभूषण चौधरी सहित अन्य लोग पहुंचे जिसके बाद दरवाजा तोड़ा गया तो शव पंखे से लटका हुआ था.

Read Also  घर से बाहर बिना ईपास निकले तो देना होगा जुर्माना

मंगलवार को मृतक सब इंस्पेक्टर रूपा तिर्की के परिवार वाले वहां पहुंचे और उनकी मौजूदगी में शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया. मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में मेडिकल बोर्ड ने शव का पोस्टमार्टम किया जिसके बाद पुलिस लाइन में उसे अंतिम सलामी दी गई और शव परिजनों को सौंप दिया गया. परिजन शव को लेकर रांची चले गए जहां उसका अंतिम संस्कार किया गया.

रूपा तिर्की रांची के रातू थाना क्षेत्र के काठीटांड की रहने वाली थी. 2018 में सब इंस्पेक्टर के पद पर बहाल हुई थी हाल ही में उसका प्रशिक्षण पूरा हुआ जिसके बाद उसे महिला थाना की जिम्मेदारी दी गई थी. रूपा तिर्की तीन बहनों में सबसे बड़ी थी उसकी अब तक शादी नहीं हुई है पिता सीआरपीएफ में है.

पंकज मिश्रा पर रूपा तिर्की के हत्‍या का आरोप

रूपा तिर्की की मां पद्मावती ने उसके बैच के ही 2 महिला पुलिस पदाधिकारियों सहित पंकज मिश्रा के ऊपर उसकी हत्या करने का आरोप लगाया है. मां ने जिस पंकज मिश्रा पर आरोप लगाया है उसे लेकर उन्होंने कहा कि 10 दिन पहले दोनों ने रूपा को पंकज मिश्रा के पास भेजा था कुछ लोगों के द्वारा यह दावा किया जा रहा है कि मामले में आरोपी बनाए गए पंकज मिश्रा का संबंध राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से है. साथ ही यह भी कहना है कि यह वही पंकज मिश्रा है जो मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का विधायक प्रतिनिधि है. पंकज मिश्रा को लेकर सोशल मीडिया पर एक कैंपेन चलाया जा रहा है जिसमें कहा जा रहा है कि मामले की उच्चस्तरीय जांच हो और आरोपियों को सख्त सजा दी जाए.

रूपा तिर्की की संदिग्ध अवस्था में मौत के मामले को लेकर परिवार वालों की तरफ से सीबीआई जांच की मांग की गई है. भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने भी पूरे मामले को लेकर सीबीआई जांच की मांग की है. साथ ही सत्ताधारी दल झारखंड मुक्ति मोर्चा के विधायक लोबिन हेंब्रम ने भी सीबीआई जांच की मांग की है. इससे पहले भी पंकज मिश्रा का नाम कई मामलों में सामने आता रहा है. इस मामले से जुड़ा एक ऑडियो भी वायरल हो रहा है पुलिस उस ऑडियो की भी जांच कर रही है.

रूपा तिर्की हत्‍या से जुड़ वायरल ऑडियो

इस बीच एक ऑडियो वायरल हो रहा है. इस ऑडियो में रूपा द्वारा आत्महत्या की धमकी दिये जाने की चर्चा हो रही है. इसमें दो व्यक्तियों के बीच बातचीत हो रही है. इनमें एक के रूपा के पिता और दूसरे के उसके प्रेमी के होने की चर्चा है. हालांकि localkhabar.com ऑडियो की पुष्टि नहीं करता है. साहिबगंज पुलिस अनुसंधान का एक बिंदु यह ऑडियो भी बन गया है. बातचीत में युवक रूपा को समझाने की बात कहता है ताकि वह आत्महत्या जैसी कोई गलत कदम न उठाए.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.