फैसला : रांची की सफाई व्‍यवस्‍था से प्राइवेट एजेंसी की होगी छुट्टी

by

#Ranchi : राजधानी रांची की साफ-सफाई की जिम्‍मेवारी से प्राईवेट एजेंसी की जल्‍द ही छुट्टी होगी. अब शहर में कचरा प्रबंधन का काम रांची नगर निगम स्वयं देखेगी. नगर निगम बोर्ड ने साफ-सफाई का काम देख रही कंपनी आरएमएसडब्ल्यू को कार्यमुक्त करने का प्रस्ताव बुधवार को नगर निगम बोर्ड की बैठक में पारित किया है.

रांची नगर निगम बोर्ड ने प्रस्ताव पारित करते हुए कहा कि लगातर चेतावनी के बाद भी कंपनी की कार्यशैली में कोई सुधार नहीं हुआ. अगस्त माह के अंतिम सप्ताह से रांची नगर निगम अपने संसाधनों के साथ सभी 53 वार्डों की साफ-सफाई और कचरा उठाव का कार्य संभालेगी.

बुधवार को निगम बोर्ड की बैठक शुरू होने के साथ ही वार्ड पार्षदों ने शहर की बदहाल सफाई व्यवस्था पर प्रश्न उठाते हुए जमकर हंगामा किया. अधिकतर पार्षदों का कहना था कि बार-बार की चेतावनी और मौके देने के बाद भी आरएमएसडब्ल्यू के कार्यसंस्कृति और शैली में विशेष सुधार नहीं हुआ. कंपनी के कर्मचारी और सुपरवाईजर भी जनप्रतिनिधियों की बातों की अनदेखी करते हैं.

Read Also  मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की मानहानि मामले में ट्विटर फेसबुक को नोटिस

इस पर बोर्ड की बैठक में उपस्थित वार्ड पार्षदों ने एक स्वर में कंपनी को कार्य मुक्त करते हुए एक माह के बाद निगम को स्वयं अपने स्तर से काम संभालने के प्रस्ताव पर मुहर लगा दी. बोर्ड की बैठक की तिथि निर्धारण को लेकर हुआ हंगामा इससे पूर्व बोर्ड की बैठक की तिथि निर्धारित नहीं होने से नाराज वार्ड पार्षदों ने इस मुद्दे पर जमकर हंगामा किया. पार्षदों ने महापौर आशा लकड़ा को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि बोर्ड की बैठक जब हर माह के 10 तारीख को निर्धारित है, तो ऐसे में 18 जुलाई को बोर्ड की बैठक बुलाने का क्या औचित्य है.

इस पर महापौर आशा लकड़ा ने कहा कि बोर्ड की बैठक आहुत करने का क्षेत्राधिकार महापौर के पास है. यह निर्धारित वह करेंगी. महापौर की इस बात पर मौजूद वार्ड पार्षद भड़क गये. पार्षदों ने महापौर पर निशाना साधते हुए कहा कि आपकी मनमानी नहीं चलेगी.

Read Also  स्‍थापना दिवस पर AJSU का गठबंधन सरकार पर हमला, Sudesh Mahto बोले- दावों के विपरीत हेमंत सरकार हर मोर्चे पर फेल

बोर्ड के सदस्यों का मंतव्य भी आपको लेना होगा. अथवा एक निर्धारित तिथि पर ही बोर्ड की बैठक बुलायी जाए. शोर-शराबे के बीच ही कुछ पार्षदों के हस्तक्षेप के बाद तय हुआ कि हर माह के 10 से 12 तारीख को नगर निगम बोर्ड की बैठक आहुत की जायेगी. बैठक में डिप्टी मेयर संजीव विजयवर्गीय, नगर आयुक्त शांतनु कुमार अग्रहरि सहित कई पार्षद उपस्थित थे.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.