कोरोना वैक्सीन के लिए ऑक्सफोर्ड पर टिकी दुनिया की निगाह, सितंबर में 10 लाख खुराक उपलब्ध कराने का दावा!

by

New Delhi: Corona pandemic पर काबू पाने के लिए ब्रिटेन के oxford university ऑक्सफोर्ड विश्‍वविद्यालय में परखी जा रही vaccine वैक्‍सीन पर दुनिया की निगाह टिकी है. वैज्ञानिकों का मानना है कि सितंबर तक वैक्सीन की खुराक तैयार हो सकती है और सितंबर में ही करीब 10 लाख खुराक वैक्सीन उपलब्ध करायी जा सकती है.

वैज्ञानिकों के इन दावों पर यकीन किया जाए तो सितंबर के बाद कोरोना महामारी को निबटाने का काम शुरू हो सकता है. हालांकि, अभी इस वैक्‍सीन का human trial मानव ट्रायल चल रहा है.

इस दिशा में वैक्‍सीन का इंसान पर पहला परीक्षण गुरुवार को शुरू हो चुका है. इसके नतीजे सकारात्‍मक हैं. इस शोध में लगी टीम के वैज्ञानिकों का कहना है कि इसके सफल होने की संभावना 80 फीसदी है.

ब्रिटिश सरकार ने ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय की टीम का पूरा समर्थन करते हुए इसके लिए दो करोड़ पाउंड देने का एलान भी किया है. Health minister Mat Hancock स्वास्थ्य मंत्री मैट हैनकॉक ने कहा कि ‘सरकार हर संभव निवेश करेगी. दुनिया में सफल टीका विकसित करने वाला पहला देश बनने के लिए उम्मीदें इतनी ज्यादा हैं कि मैं इस पर सब कुछ लगा रहा हूं’.

गौरतलब है कि कोरोनावायरस के प्रसार की भयावहता से चिंतित Americ अमेरिका, Israel इसराइल, India भारत, Japan जापान, Australia आस्ट्रेलिया समेत कई देश कारगर vaccine वैक्सीन विकसित करने के काम में पूरी शिद्दत से दिन रात एक कर रहे हैं. हालांकि पिछले दिनों ही China चीन ने वैक्सीन विकसित कर लेने का दावा करते हुए कहा था कि वह इसका सबसे पहले human trial मानव परीक्षण पाकिस्तान में करेगा. लेकिन चीन के इस दावे में विश्वास कम नज़र आता है क्योंकि यदि वास्तव में उसने कारगर वैक्सीन विकसित कर ली होती तो इसका परीक्षण वह पाकिस्तानियों की बजाय अपने यहां के लोगों पर करता.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.