देश के 3 अस्पताल में शुरू हुआ प्लाज्मा ट्रायल, तबलीगी जमातियों ने किया रक्तदान

by

कोरोना वायरस कहर के बीच तबलीगी जमात अब भी सुर्खियों में बना हुआ है. तबलीगी जमात से जुड़े 300 से ज्यादा मरीजों ने अच्छा होने के बाद प्लाज्मा दान करने की ख़्वाहिश जताई है.

वहीं, रविवार व सोमवार को 12 जमातियों ने अपना प्लाजमा भी दान किया. दरअसल, कोरोना के ज्यादातर मामलों के लिए जिम्मेवार माने जाने वाले तबलीगी जमात की बहुत ज्यादा आलोचना हुई थी, मगर अब जिस तरह से कोरोना के विरूद्ध जंग में आगे बढ़कर आए हैं, वह सराहनीय है.

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने अपील की थी कि कोरोना से अच्छा हो चुके मरीज अपना प्लाज्मा दान करें. इसके बाद सुल्तानपुरी सेंटर में कोरोना से अच्छा हो चुके जमात के चार सदस्यों ने अपना प्लाज्मा दान किया.

वहीं, कई अन्य केंद्रों पर भी जमातियों ने प्लाज्मा दिया है. सूत्रों की माने तो अच्छा हो चुके 300 से ज्यादा तबलीगी जमात के सदस्यों ने प्लाज्मा देने के लिए दिल्ली सरकार के सहमति फॉर्म पर दस्तखत किए हैं.

नरेला सेंटर में 190, सुल्तानपुरी सेंटर में 51 व मंगोलपुरी सेंटर में 42 तबलीगी अपना प्लाज्मा दान करेंगे. दिल्ली सरकार का स्वास्थ्य विभाग प्लाज्मा थेरेपी से कोरोना का उपचार कर रहा है. तबलीगी जमात प्रमुख मौलाना साद ने भी अच्छा हो चुके तबलीगी जमात के लोगों से प्लाज्मा दान करने की अपील की थी.

लोकनायक अस्पताल में अच्छा हो चुके मरीजों के प्लाज्मा से कोरोना वायरस के मरीजों का उपचार किया जा रहा है. खून के प्लाज्मा में वायरस के विरूद्ध एंटीबॉडीज बन जाते हैं जो वायरस से लड़कर संक्रमण से बचाते हैं. ऐसे अच्छा हुए मरीजों का प्लाजमा नए मरीजों को दिया जा रहा है. बता दें कि मार्च के आरंभ में ही निजामुद्दीन मरकज में जमातियों का एक जलसा हुआ था, जिसमें विदेश से भी कई लोग शामिल होने आए थे व जब इन लोगों की जाँच हुई तो ज्यादातर जमाती कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.