बैंक ने गलत खातों में भेज दिए कोरोना राहत के करोड़ों रुपये, अब ऐसे होगी वसूली

by

Guwahati: कोरोना से जंग के बीच जनधन खातों के लिए केंद्र से जारी राहत फंड को लेकर एक बैंक की बड़ी लापरवाही सामने आई है. केंद्र सरकार की 500 रुपये के राहत फंड को 3 लाख से भी अधिक अयोग्य लोगों के खाते में ट्रांसफर कर दिया गया. यह गलती तेलंगाना ग्रामीण बैंक ने की है जो सामने आ चुकी है। अब बैंक अब 3 लाख खातों से 16 करोड़ रुपये वापस ले रहा है.

करीब एक लाख अयोग्य खाताधारकों ने खाते से पैसा भी निकाल लिया था जिसे अब बैंक रिकवर करने की प्रक्रिया शुरू कर चुका है. बैंक ने अप्रैल के पहले हफ्ते में पैसा ट्रांसफर किया था और एक हफ्ते बाद गलती का अहसास हुआ. राशि रिकवर करने के साथ बैंक यह भी पता लगा रहा है कि आखिर गलती कहां हुई और इसके पीछे कौन जिम्मेदार है?

लॉकडाउन के चलते केंद्र ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना (पीएमजीकेवाई) के तहत गरीब महिलाओं के जनधन खाते में 500 रुपये ट्रांसफर करने की घोषणा की थी. लाभार्थियों को लगातार तीन महीने तक यह राशि दी जानी थी जिसकी पहला इंस्टालमेंट अप्रैल को रिलीज किया गया था.

एसबीआई स्पॉन्सर्ड तेलंगाना ग्रामीण बैंक के पास 9 लाख जनधन खाते हैं लेकिन केंद्र की गाइडलाइन के अनुसार, सिर्फ 5.15 लोग ही 500 रुपये के लाभार्थी हैं. तेलंगाना ग्रामीण बैंक के जनरल मैनेजर (आईटी) वीएस महेश ने बताया, ‘नियम के मुताबिक, जिन महिलाओं के खाते 1 अगस्त 2014 के बाद खुले हैं केवल वे ही यह राशि प्राप्त करने योग्य होंगी। गलती से सभी जीरो अकाउंट में पैसा ट्रांसफर हो गया. गलती सामने आने पर 16 करोड़ रुपये निकाले जा रहे हैं.’

बता दें कि तेलंगाना में 99 लाख जनधन अकाउंट हैं जिनमे से 52 लाख सेमी अर्बन और ग्रामीण इलाकों में हैं जबकि 47 लाख अर्बन और मेट्रो इलाकों में हैं. इन खातों में 15 अप्रैल तक 2,717 करोड़ रुपये बैलेंस है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.