देश के नए भारत रत्‍न प्रणब मुखर्जी, नानाजी देशमुख और भूपेन हजारिका

by

New Delhi: भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को गुरुवार को देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से नवाजा गया. राष्ट्रपति भवन में आयोजित एक समारोह में मुखर्जी के साथ ही जनसंघ के नेता नानाजी देशमुख और प्रख्‍यात गायक भूपेन हजारिका को मरणोपरांत भारत रत्न से सम्मानित किया गया.

तीनों शख्सियतों को भारत रत्न से सम्मानित करने का ऐलान गणतंत्र दिवस पर किया गया था.

कांग्रेस के दिग्गज नेताओं में से एक प्रणब मुखर्जी साल 2017 में राष्ट्रपति पद से सेवानिवृत्त हुए हैं. अपने लंबे राजनीतिक करियर में प्रणब मुखर्जी ने सरकार और पार्टी में कई अहम जिम्मेदारियां निभाईं. राष्ट्रपति पद से रिटायर होने के बाद भी प्रणब मुखर्जी लगातार सामाजिक जीवन में सक्रिय हैं और देश के विभिन्न मुद्दों पर लगातार प्रतिक्रिया देते रहे हैं.

प्रणब मुखर्जी के साथ ही जनसंघ के विचारक और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के संस्थापक सदस्यों में से एक नानाजी देशमुख को भी आज देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान दिया गया. दीनदयाल रिसर्च संस्थान के चेयरमैन वीरेंद्रजीत सिंह ने नानाजी देशमुख की ओर से यह सम्मान ग्रहण किया.

असमिया कवि, संगीतकार और प्रख्यात गायक भूपेन हजारिका को भी आज मरणोपरांत भारत रत्न सम्मान मिला. उनके बेटे तेज हजारिका ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के हाथों पिता का सम्मान ग्रहण किया. असमिया भाषा और संस्कृति के कवि, गीतकार, गायक-संगीतकार, और फिल्म-निर्माता थे. उन्होंने अपनी कला से असम की संस्कृति को व्यापक पैमाने तक पहुंचाया.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.