कोरोना वायरस: नागपुर अस्‍पताल से भागे 5 संदिग्‍ध, पीछे लगी पुलिस फोर्स

by

Nagpur: नागपुर शहर में कोरोना वायरस का खौफ मंडरा रहा है. यहां हाई अलर्ट की घोषणा कर दी गई है. दरअसल नागपुर अस्‍पताल से कोरोना वायरस के 5 संदिग्‍ध फरार हो गए हैं. शहर में इन मरीजों की तलाश की जा रही है.

संदिग्धों के मेडिकल स्टेटस की पुष्टि नहीं

नागपुर के इंदिरा गांधी गवर्न्मेंट मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (मायो) से कोरोना वायरस के पांच संदिग्ध मरीज भाग गए. इन सभी को संक्रमण की जांच के लिए निगरानी में रखा गया था.

जोनल डीसीपी राहुल मकनिकर ने इस घटना की पुष्टि करते हुए बताया, ‘पुलिस को हाई अलर्ट कर दिया गया है और पूरे शहर में नाकाबंदी कर दी गई है.’ संदिग्धों का मेडिकल स्टेटस क्या था, अभी इसकी पुष्टि नहीं हो सकी है.

नागपुर में कोरोना वायरस के 3 कन्फर्म केस

नागपुर में कोरोना वायरस की जांच में कुल तीन मामलों की पुष्टि के साथ ही महाराष्ट्र में इस विषाणु से संक्रमित व्यक्तियों की संख्या 17 हो गई. अधिकारियों ने यह जानकारी दी.

मंडलायुक्त संजीव कुमार ने कहा कि नागपुर में दो दिन पहले 45 वर्षीय एक व्यक्ति में संक्रमण की पुष्टि हुई थी, जिसके बाद शुक्रवार को उक्त व्यक्ति की पत्नी और दोस्त के भी जांच में संक्रमित होने की पुष्टि हुई. व्यक्ति अपनी पत्नी और दोस्त के साथ पिछले सप्ताह अमेरिका से लौटा था.

अधिकारियों ने बताया कि व्यक्ति को शहर में स्थित इंदिरा गांधी सरकारी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

उन्होंने कहा कि उक्त व्यक्ति में संक्रमण की पुष्टि होने के बाद उसके संपर्क में आए 15 लोगों की निगरानी की जा रही थी और उनके नमूने प्रयोगशाला में जांच के लिए भेजे गए थे. व्यक्ति की पत्नी और दोस्त का यहां सरकारी अस्पताल में उपचार चल रहा है.

एयरपोर्ट पर 1 महीने में 600 यात्रियों की जांच

महाराष्ट्र में अब तक पुणे में 10, मुंबई और नागपुर में तीन-तीन और ठाणे में एक कोरोना वायरस के मामले की पुष्टि हुई है. संभागीय आयुक्त ने बताया कि 15 फरवरी के बाद इटली, जर्मनी, चीन, फ्रांस, स्पेन, ईरान और दक्षिण कोरिया की यात्रा करने वाले यात्रियों को नागपुर हवाई अड्डे पर आने पर अनिवार्य रूप से पृथक किया जाएगा, चाहे उनमें लक्षण हो या नहीं. उन्होंने बताया कि 15 फरवरी के बाद नागपुर हवाई अड्डे पर आने वाले 604 यात्रियों की जांच की गई है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.