झारखंड में भी शराब पर लग सकता है कोरोना टैक्स, होगी होम डिलीवरी

by

Ranchi: भारत में दो महीनों से लॉकडाउन जारी है. लॉकडाउन 4.0 में केंद्र सरकार ने राज्यों में कई रियायतें दी हैं. इस बीच कई राज्यों में शराब दुकानें भी खुल गई हैं. वहीं कई राज्यों ने शराब के दामों में भारी बढ़ोतरी करते हुए उस पर कोरोना टैक्स लगाया है. झारखंड में भी शराब दुकानें खोलने के आदेश दे दिए हैं. हालांकि इस आदेश के बाद 19 मई तक लिकर शॉप नहीं खुले. वहीं सोरेन सरकार शराब दुकान खोलने से पहले एमआरपी पर कोरोना टैक्स लगाने पर विचार कर रही है.

जानकारी के अनुसार झारखंड में शराब 25 प्रतिशत तक महंगी हो सकती है. राज्‍य सरकार की मंशा है कि वह शराब पर कोरोना सरचार्ज लगाकर उसे एमआरपी से ज्यादा कीमत पर बेचे, जिससे राज्य को ज्यादा रेवेन्यू मिल सके. उत्पाद विभाग शराब के दाम बढ़ाने के लिए अन्य राज्यों द्वारा लिए जा रहे कोरोना सरचार्ज के नियमों को भी देख रहा है.

वित्त मंत्री ने कही ये बात

झारखंड के वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव के मुताबिक शराब बिक्री पर लगाम लगाने के लिए सरकार एडिशनल टैक्स लगाने पर विचार कर रही है. महंगी होने पर शराब लोग कम खरीदेंगे, इसके साथ ही सरकार को राजस्व भी मिलेगा.

शराब की ऑनलाइन भी होगी डिलीवरी

झारखंड में फिलहाल शराब पर 50 प्रतिशत वैट लिया जा रहा है. सरकार को शराब बिक्री से हर साल औसतन 2 हजार करोड़ की आय होती है. इस बीच उत्पाद विभाग द्वारा शराब कारोबारियों के साथ बैठक की गई जिसमें लॉकडाउन के दौरान शराब को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीकों से बेचने पर सहमति बनी है.

अधिकारियों के मुताबिक शराब बिक्री को लेकर जल्द ही अधिसूचना जारी की जाएगी. बैठक में तय हुआ कि ऑनलाइन बिक्री के लिए Zomato और Swiggy को पहले शराब मुहैया कराई जाएगी. दुकान पर आने वाले ग्राहकों से ज्यादा तवज्जो ऑनलाइन डिलीवरी वालों को दी जाएगी.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.