किसान आंदोलन में बढ़ा कोरोना संक्रमण का खतरा, दो आईपीएस अधिकारी पाये गए पॉजिटिव

by

New Delhi: कृषि बिलों के खिलाफ दिल्ली की सीमा पर जारी किसान आंदोलन में अब कोरोना वायरस महामारी की भी एंट्री हो गई है. दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर तैनात दो आईपीएस अफसर कोरोना पॉजिटिव मिले हैं.

इनमें एक डीसीपी और एक एडिशनल डीसीपी हैं. दिल्ली पुलिस की ओर से इस संबंध में जानकारी दी गई है. दोनों अधिकारियों को आइसोलेशन में भेज दिया गया है और उनके संपर्क में आए लोगों की पहचान की जा रही है.

इस बीच किसान आंदोलन का आज 16वां दिन है. हालांकि, हालात पहले जैसे बने हुए हैं और फिलहाल गतिरोध खत्म होने के कोई आसार नजर नहीं आ रहे हैं. बता दें कि किसान संगठनों ने सरकार का प्रस्ताव भी खारिज किया है और आंदोलन को देशव्यापी बनाने की चेतावनी दी है.

Read Also  मानभूम-जंगलमहल क्षेत्रीय प्रशासन का अविलंब गठन हो: सुदेश महतो

किसानों आंदोलन को तेज करने की चेतावनी

किसानों ने विरोध को तेज करने की चेतावनी देते हुए कहा है कि वे राजमार्गों के अलावा देश भर में रेलवे पटरियों को भी रोकेंगे. इनका कहना है कि सरकार की पेशकश में कुछ भी नया नहीं है.

किसान नेताओं से अमित शाह भी बात कर चुके हैं. इसी हफ्ते मंगलवार रात किसान नेताओं के एक समूह से उन्होंने मुलाकात की थी लेकिन लगभग चार घंटे की बैठक के बाद भी गतिरोध नहीं टूट पाया. यह बैठक लगभग आधी रात तक चली थी.

Read Also  ओरमांझी के Pundag Toll Plaza से सरकार को अब तक मिला 3 अरब 85 करोड़ से अधिक राजस्व, MEP Infrastructure पर करोड़ों बकाया

इस बैठक में इस बात का निर्णय किया गया कि सरकार किसान यूनियनों को एक लिखित प्रस्ताव भेजेगी. बुधवार सुबह होने वाली सरकार और किसान यूनियन नेताओं के बीच छठे दौर की वार्ता भी रद्द कर दी गई थी.

इस बीच बताते चलें कि जैसे-जैसे गतिरोध बढ़ रहा है, दिल्ली बॉर्डर पर किसानों की संख्या भी लगातार बढ़ रही है. रिपोर्ट्स के अनुसार एक ओर जहां कुछ किसान वापस अपने खेत में काम के लिए लौटे हैं, वहीं पंजाब से और कई और जत्थे और किसानों का समूह दिल्ली की ओर बढ़ रहा है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.