भारत जोड़ो यात्रा के दौरान कांग्रेस सांसद चौधरी संतोख सिंह का निधन, पीएम ने जताया शोक

0
16
भारत जोड़ो यात्रा के दौरान कांग्रेस सांसद चौधरी संतोख सिंह का निधन, पीएम ने जताया शोक
भारत जोड़ो यात्रा के दौरान कांग्रेस सांसद चौधरी संतोख सिंह का निधन, पीएम ने जताया शोक

Santokh Singh Death: कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा (Bharat Jodo Yatra) में शनिवार को जालंधर से पार्टी के सांसद संतोख सिंह (Santokh Singh Chaudhary) का निधन हो गया. सड़क पर चलते-चलते उन्हें हार्ट अटैक आया और कुछ ही देर में उन्होंने दम तोड़ दिया.

इस घटना के बाद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने भारत जोड़ो यात्रा रविवार तक रोक दी है. यात्रा में शामिल सभी नेता और कार्यकर्ता संतोख सिंह चौधरी को श्रद्धाजंलि दे रहे हैं.

संतोख सिंह के निधन पर कांग्रेस संसदीय दल की अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने दुख व्यक्त किया है. सोनिया गांधी ने कांग्रेस सांसद संतोख सिंह चौधरी की पत्नी कमलजीत कौर को एक पत्र लिखा है. जिसमें सोनिया ने लिखा, “दुख की इस घड़ी में मैं आप और आपके पूरे परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करती हूं.”

पीएम नरेंद्र मोदी ने भी जताई संवेदनाएं

पीएम नरेंद्र मोदी ने भी संतोख सिंह के निधन पर दुख जताया. उन्होंने लिखा- वे पंजाब के लोगों की सेवा के लिए किए प्रयासों के लिए याद किए जाएंगे. मैं उनके परिवार और समर्थकों के साथ संवेदना प्रकट करता हूं.

राष्‍ट्रपति ने जताया शोक

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने शनिवार को कांग्रेस सांसद संतोख सिंह चौधरी के निधन पर दुख जताया है.

राष्ट्रपति मुर्मू ने ट्वीट संदेश में कहा, “श्री संतोख सिंह चौधरी के निधन के बारे में सुनकर दुख हुआ. जालंधर से लगातार लोकसभा के लिए और कई बार विधायक के रूप में उनके चुनाव ने क्षेत्र में उनकी निरंतर लोकप्रियता को प्रदर्शित किया. उनके परिवार, दोस्तों और फॉलोअर्स के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं.”

उपराष्ट्रपति धनखड़ ने ट्वीट किया, “श्री संतोख सिंह चौधरी के असामयिक निधन से स्तब्ध हूं. पंजाब के लोगों के लिए उनके अथक परिश्रम को हमेशा याद किया जाएगा. उनके परिवार के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं हैं. ओम शांति!”

15 जनवरी को सुबह 11 बजे होगी अंत्येष्टि

जान गंवाने वाले सांसद संतोख का 15 जनवरी, यानी कल सुबह 11 बजे उनके पैतृक गांव धालीवाल में अंतिम संस्कार किया जाएगा. बहरहाल, पंजाब से होकर आगे बढ़ रही कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा रुक गई है. संतोख के अंतिम संस्कार के बाद यह फिर शुरू होगी.

ऐसा रहा चौधरी का सियासी सफर

बता दें कि, संतोख सिंह चौधरी जालंधर के सांसद थे. 2019 में वह दूसरी बार सांसद बनकर लोकसभा पहुंचे थे. इससे पहले वह 2014 में सांसद चुने गए थे. उन्होंने वर्ष अपना राजनीतिक सफर 1978 में पंजाब युवा कांग्रेस नेता के तौर पर शुरू किया था. तब से 1982 तक वह पंजाब युवा कांग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष रहे. इसके बाद 1987 से 1995 तक जिला कांग्रेस कमेटी ग्रामीण के अध्यक्ष रहे.

वर्ष 1992 में वह पंजाब कांग्रेस विधायक दल के महासचिव के रूप में चुने गए. 1992 से 1995 तक ग्रामीण विकास और पंचायतों के प्रभारी, संसदीय कार्य और विद्युत विभाग के मुख्य संसदीय सचिव बने. बाद में पंजाब सरकार में संतोख सिंह को स्वास्थ्य-परिवार कल्याण एवं खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री, कैबिनेट मंत्री बनाया गया.
पीएम नरेंद्र मोदी ने भी संतोख सिंह के निधन पर दुख जताया. उन्होंने लिखा- वे पंजाब के लोगों की सेवा के लिए किए प्रयासों के लिए याद किए जाएंगे. मैं उनके परिवार और समर्थकों के साथ संवेदना प्रकट करता हूं.

15 जनवरी को सुबह 11 बजे होगी अंत्येष्टि

जान गंवाने वाले सांसद संतोख का 15 जनवरी, यानी कल सुबह 11 बजे उनके पैतृक गांव धालीवाल में अंतिम संस्कार किया जाएगा. बहरहाल, पंजाब से होकर आगे बढ़ रही कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा रुक गई है. संतोख के अंतिम संस्कार के बाद यह फिर शुरू होगी.

ऐसा रहा चौधरी का सियासी सफर

बता दें कि, संतोख सिंह चौधरी जालंधर के सांसद थे. 2019 में वह दूसरी बार सांसद बनकर लोकसभा पहुंचे थे. इससे पहले वह 2014 में सांसद चुने गए थे. उन्होंने वर्ष अपना राजनीतिक सफर 1978 में पंजाब युवा कांग्रेस नेता के तौर पर शुरू किया था. तब से 1982 तक वह पंजाब युवा कांग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष रहे. इसके बाद 1987 से 1995 तक जिला कांग्रेस कमेटी ग्रामीण के अध्यक्ष रहे.

वर्ष 1992 में वह पंजाब कांग्रेस विधायक दल के महासचिव के रूप में चुने गए. 1992 से 1995 तक ग्रामीण विकास और पंचायतों के प्रभारी, संसदीय कार्य और विद्युत विभाग के मुख्य संसदीय सचिव बने. बाद में पंजाब सरकार में संतोख सिंह को स्वास्थ्य-परिवार कल्याण एवं खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री, कैबिनेट मंत्री बनाया गया.

Leave a Reply