सरकार में कलह: कांग्रेस ने अलग से की बैठक, IPS ट्रांसफर पर जताई नाराजगी

by

Ranchi:झारखंड में हेमंत सोरेन के नेतृत्व में बनी गठबंधन की सरकार में कलह खुलकर सामने आ ही गई. आज मुख्यमंत्री वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कोल्हान के सांसदों और विधायकों के साथ कोरोना संकट को लेकर चर्चा कर रहे थे. उधर कांग्रेस कोटा के चार मंत्रियों की अलग बैठक चल रही थी.

बैठक के बाद स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि जब राज्य में गठबंधन की सरकार है, तो अहम फैसले लेने से पहले सभी मंत्रियों के साथ विचार विमर्श करने की जरूरत है. जो भी निर्णय हो वह सम्मति का हो.

बन्ना गुप्ता पत्रकारों से बात कर रहे थे. उन्होंने इस बात पर भी नाराजगी जताई कि विभागीय सचिवों को ज्यादा पावर दिए जा रहे हैं.

Read Also  31 वर्षीय विधायक अंबा प्रसाद पर FIR, 48 लाख अवैध निकासी का आरोप

बन्ना गुप्ता जब पत्रकारों से बात कर रहे थे, तो साथ में कृषि मंत्री बादल भी थे. इससे पहले रामेश्वर उरांव, आलमगीर आलम, बन्ना गुप्ता और बादल ने बैठक कर सरकार के कामकाज पर चर्चा की,

बन्ना गुप्ता ने यह भी कहा कि आीपीएस अधिकारियों और जिलों के पुलिस अधीक्षकों के ताबदले पर भी घटक दलों के मंत्रियों से बात करनी चाहिए.

गौरतलब है कि मंगलवार की रात सरकार ने बड़े पैमाने पर 35 आईपीएस अधिकारियों का तबादला किया है. इनमें दर्जन भर जिलों के एसपी और कई डीआईजी शामिल हैं.

गृह विभाग मुख्यमंत्री के पास है. जाहिर है यह फैसला उन्होंने लिया है. लेकिन कांग्रेस का कहना है कि सहयोगी दल के मंत्रियों से भी बात करनी चाहिए.

Read Also  झारखंड लॉकडाउन ई-पास बनाने में प्राइवेसी सुरक्षित नहीं, तकनीकी कमियों का कोई भी कर सकता है गलत इस्‍तेमाल

पिछले दिनों मंत्री आलमगीर आलम की अनुंशा पर रांची से बाहर भेजी गई बसों को लेकर पहले ही विवाद हो चुका है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.