भाजपा शाशनकाल में उद्योग लगाने के नाम पर कौड़ियों के भाव में पूँजीपति मित्रों को दी गई थी ज़मीन : अलोक दुबे

by

Ranchi: झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे, लाल किशोरनाथ शाहदेव और राजेश गुप्ता छोटू ने निवेशकों को न्योता, युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने, विकास को गति प्रदान करने और वायदे के मुताबिक किसानों की कर्जमाफी को लेकर उठाये गये कदम का स्वागत करते हुए कहा कि इन फैसलों से राज्य के लोगों में उम्मीद की एक नयी किरण जगी है.

प्रदेश कांग्रेस कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे ने कहा कि अलग झारखंड राज्य गठन के बाद 16-17वर्षों के भाजपा शासनकाल में देश-विदेश की सैकड़ों छोटी-बड़ी कंपनियों के साथ एमओयू हुआ, लेकिन इनमें से अधिकांश एमओयू का क्या हश्र हुआ, यह सभी को पता है, हालांकि यह भी सच्चाई है कि भाजपा शासनकान में उद्योग लगाने के नाम पर कई पूंजीपति मित्रों को कौड़ियों के भाव जमीन दे दी गयी, लेकिन ना तो उद्योग की स्थापना हुई और न ही युवाओं के रोजगार को रोजगार मिल पाया. एमओयू के नाम पर झारखंड के लोगों को मेगा इवेंट भी देखने को मिला, परंतु महीनों-वर्षों बाद इसका परिणाम नहीं मिलने पर लोगों की उम्मीद टूट गयी. परंतु अब गठबंधन सरकार में बड़ी ही गंभीरता के साथ निवेशकों को आमंत्रित करने का बीड़ा उठाया गया है और इसके सार्थक परिणाम भी सामने आने लगे है.

Read Also  हेमंत सरकार गिराने की साजिश में शामिल कांग्रेसी विधायकों के खिलाफ हो सकती है कार्रवाई

प्रदेश प्रवक्ता लाल किशोरनाथ शाहदेव ने कहा कि चालू वित्तीय वर्ष में गठबंधन सरकार ने अपने वायदे के मुताबिक सीमित संसाधनों के तहत किसानों का 50 हजार रुपये तक का कर्ज माफ किया गया, वहीं आगामी वित्तीय वर्ष में 1 लाख रुपये तक की कर्जमाफी का निर्णय लेते हुए बजट में 1200 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है.

वित्तमंत्री डॉ रामेश्वर उरांव की ओर से यह भी भरोसा दिलाया गया है कि जरूरत पड़ने पर कृषि ऋण माफी के लिए अनुपूरक बजट के माध्यम से अतिरिक्त राशि की भी व्यवस्था की जाएगी.

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता राजेश गुप्ता छोटू ने कहा कि राज्य सरकार वायदे के मुताबिक बिजली उपभोक्ताओं को 100 यूनिट प्रति माह निःशुल्क बिजली उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है, परंतु जिस तरह से डीवीसी के बकाया भुगतान को लेकर आरबीआई के माध्यम से केंद्र सरकार ने झारखंड सरकार के खाते से 2100 करोड़ रुपये की राशि काट ली, उससे झारखंड के हितों पर कुठाराघात हुआ है. इसके बावजूद आने वाले समय में सरकार सभी वायदे को पूरा करेगी.

Read Also  महाराष्‍ट्र के पूर्व मंत्री और बड़े कारोबारी ने रची थी हेमंत सरकार गिराने की साजिश!

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.