भारत में इटली की तरह बढ़ रहे हैं कोरोना मामले

by

New Delhi: भारत में कोरोना वायरस के केस और मौतों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. लॉकडाउन के बावजूद भारत में कोरोना वायरस (CoronaVirus) से पैर पसार रहा है. कोरोना से जुड़े केस लगातार बढ़ रहे हैं. मौत का आंकड़ा भी 199 छू गया है. 

इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च (ICMR) ने देश को भयानक खतरे के संकेत दिए हैं. माना जा रहा है कि भारत कोरोना के थर्ड फेज के करीब है, जिसमें इस वायरस के कम्युनिटी ट्रांसमिशन का खतरा बढ़ जाता है.

इसे भी पढ़ें: जमात में शामिल देसी-विदेशी महिलाएं बनीं बड़ी चुनौती

भारत में कोरोना वायरस का सबसे ज्यादा असर महाराष्ट्र में देखने को मिल रहा है. मायानगरी मुंबई में पीड़ितों की बढ़ती संख्या के कारण स्थिति गंभीर होती जा रही है. यहां सबसे बड़ी चिंता घनी झोपड़पट्टियों में नए मामले सामने आने की है. यहां कम्युनिटी ट्रांसमिशन का खतरा बढ़ गया है.

गुरुवार को भी यहां से बेहद चिंताजनक आंकड़े सामने आए। गुरुवार को एक ही दिन में Coronavirus के कारण प्रदेश में 25 लोगों की मौत हो गई.  इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च (ICMR) ने देश को भयानक खतरे के संकेत दिए हैं.

हाल के कुछ हफ्तों में ICMR की ओर से देशभर के अलग-अलग जिलों से लिए गए कोरोना वायरस मरीजों के नमूनों और उनकी केस हिस्ट्री की जानकारी में जो आंकड़े सामने आए हैं, उससे देश में कम्युनिटी ट्रांसमिशन (Community Transmission) का खतरा तेजी से बढ़ रहा है. 

ICMR ने कुछ दिन पहले ही कहा था कि भारत में कम्युनिटी ट्रांसमिशन का खतरा न के बराबर है. ICMR की रिपोर्ट में कहा गया है जिन जिलों में इस तरह के मरीज ज्यादा देखने को मिल रहे हैं वहां और ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है. 

इसे भी पढ़ें: क्वारंटाइन से अस्पताल पहुंचे 36 जमाती, सभी मिले कोरोना पॉजिटिव

क्या है कम्युनिटी ट्रांसमिशन

ये तब होता है जब वायरस सोसायटी में घुसकर बहुत बड़ी संख्या में लोगों को बीमार करने लगे. कमजोर इम्युनिटी वाले मरीजों की मौत होने लगे. कम्युनिटी ट्रांसमिशन शुरू होते ही ये हालात आते ही हैं. रोग प्रतिरक्षा पैदा होने में कितना वक्त लगता है ये कई बातों पर निर्भर है. जैसे बीमारी कितनी तेजी से फैल रही है. इम्युनिटी पैदा होने में आमतौर पर 6 महीने से लेकर 1 साल का वक्त लगता है. 

इसे भी पढ़ें: भाजपा विधायक राज सिन्‍हा ने लॉकडाउन का उल्‍लंघन कर जुटाई लोगों की भीड़

इटली की तरह बढ़ रहे हैं केस

भारत में कोरोना वायरस के मामले और मौतों की संख्या वैसे ही बढ़ रही है, जैसे इटली में थी. दुनिया में सबसे अधिक लोग इटली (Italy) में मारे गए हैं. ये चिंता का विषय है कि भारत में कोरोना का विस्तार इटली की ही तर्ज पर हो रहा है. अंतर सिर्फ समय का. इटली में पिछले महीने यानी मार्च में जैसे-जैसे कोरोना के मामले और मौतों की संख्या बढ़ी, उसी तरह भारत में मामले बढ़ रहे हैं. बस महीना अप्रैल का है.

सरकार ने संकेत दिए हैं कि लॉकडाउन (Lockdown) अभी खत्म नहीं होगा. इससे भी साफ है कि स्थिति नियंत्रित करने में वक्त लगने वाला है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.