आम जनों को कोरोना वैक्सीन के लिए करना होगा इंतजार, 16 जनवरी को बन्ना गुप्ता लगाएंगे पहला टीका

by

Ranchi: झारखंड में 16 जनवरी से कोरोना टीकाकरण शुरू हो जाएगी. स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि 16 जनवरी को कोविड का पहला टीका वे लगवाएंगे. वहीं आम लोगों को वैक्‍सीन के लिए अभी इंतजार करना पड़ेगा.

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने कहा कि हालांकि कोरोना काल के स्वास्थ्य कर्मियों ने कोविड संक्रमण के दौरान हर डर को त्याग कर अपना श्रेष्ठ प्रदर्शन किया है जिसका परिणाम है कि झारखंड कोविड से लड़ने में देशभर में बेहतर पोजीशन में हैं।उक्त बातें उन्होंने अपने आवास पर आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में कही.

मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि विभाग का कप्तान होने के नाते मेरा ये दायित्व है कि अगर किसी भी स्वास्थ्य कर्मियों के मन में जरा सा भी डर है या संकोच हैं तो तो मैं उसे दूर कर दूं. मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि बुधवार को वैक्सीन की पहली खेप आई है. 15 दिन के अंतराल बाद दूसरा खेप झारखंड आएगा.

स्वास्थ्य कर्मियों और आर्मी के जवानों को मिलेगा पहले चरण में डोज

मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि पहले खेप में कोवीशील्ड के 1.66 लाख डोज झारखंड को दिया गया है. इनमें 1.31 लाख चिन्हित हेल्थ वर्कर्स को दिए जाएंगे. इसके अलावा बाकी बचे 35 हजार डोजेज आर्मी के जवानों को दिए जाएंगे. ये रामगढ़ और रांची के नामकुम स्थित सेना के कैंपों में उनकी जरूरत के हिसाब से भेजा जाएगा.

आज से ही हर जिलों में पहुचाई जाएगी वैक्सीन

मंत्री बन्ना गुप्ता ने बताया कि बुधवार से ही हर जिले में वैक्सीन पहुंचाने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी. इसके लिए 24 जिलों के उपायुक्तों और सिविल सर्जन को आवश्यक निर्देश दे दिए हैं. उन्होंने बताया कि वैक्सीन को 2-8 डिग्री सेल्सियस के बीच रखना है. इसे रखने में किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं होगी.

उन्होंने बताया कि 28 दिन बाद सभी वैक्सीन का दूसरा डोज दिया जाएगा. इसके साथ दूसरे फेज में ढाई लाख फ्रंट लाइन वर्कर्स और तीसरे फेज के लिए तकरीबन 70 लाख लोगों को चिन्हित किया गया है.

निजी हॉस्पिटल पर अभी निर्णय नहीं

कोविड के इलाज के दौरान बाद में प्राइवेट हॉस्पिटल को भी शामिल किया गया था. इसी तरह अगर वैक्सीनेशन की प्रक्रिया में जनहित के लिए प्राइवेट हॉस्पिटल में इसे शुरू करने की आवश्यक्ता होगी तो इस पर गंभीर चर्चा और चिंतन के साथ इस पर निर्णय लिया जाएगा. अभी इस पर कुछ भी कहना सही नहीं होगा.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.