झारखंड के 1500 मजदूरों को विशेष ट्रेन से बॉर्डर पर भेजेंगे सीएम हेमंत सोरेन

by

Ranchi: एक ओर विशेष ट्रेन और हवाई जहाज से प्रवासी मजदूरों का झारखंड लौटने का सिलसिला जारी है वहीं दूसरी ओर मुख्‍यमंत्री 1500 मजदूरों को सड़क निर्माण के लिए बॉर्डर पर भेज रहे हैं. 12 जून को दुमका से एक विशेष रेल के माध्यम से लगभग 15 सौ मजदूर बॉर्डर रोड ऑर्गनाइजेशन (बीआरओ) की ओर से सीमावर्ती क्षेत्रों में कराने जाने वाले सड़क निर्माण कार्य में शामिल होने के लिए रवाना होंगे. मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन इस मौके पर कामगारों को ले जाने वाले विशेष ट्रेन को हरी झंडी दिखाने के लिए मौजूद रहेंगे. इस सिलसिले में बॉर्डर रोड ऑर्गनाइजेशन के अपर पुलिस महानिदेशक अनिल कुमार ने आज झारखंड मंत्रालय में मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने शिष्टाचार मुलाकात की. उन्होंने मुख्यमंत्री को बीआरओ के क्रियाकलापों की जानकारी दी.

जिला प्रशासन और बीआरओ के बीच होगा एकरारनामा

दुमका जिले से कामगारों के विशेष ट्रेन से रवाना होने के पूर्व बीआरओ के पदाधिकारी और जिला प्रशासन के द्वारा एकरारनामा पर हस्ताक्षर किया जाएगा. बीआरओ के अपर पुलिस महानिदेशक अनिल कुमार ने बताया कि बीआरओ और झारखंड श्रम विभाग के बीच एमओयू करने के लिए केंद्र सरकार के रक्षा मंत्रालय से अनुमति मांगी गई है. रक्षा मंत्रालय की अनुमति मिलने के बाद एमओयू की प्रक्रिया पूरी की जाएगी, ताकि श्रम विभाग इस कार्य में बॉर्डर रोड ऑर्गनाइजेशन को समुचित सहयोग प्रदान कर सकें और श्रम कानूनों का उल्लंघन नहीं हो.

कामगारों के रिक्रूटमेंट में पारदर्शिता बरती जाए

मुख्यमंत्री ने बीआरओ के अपर पुलिस महानिदेशक से कहा कि कामगारों के रिक्रूटमेंट में श्रम कानूनों के प्रावधानों का पालन किया जाए. इनके नियुक्ति में पूरी तरह पारदर्शिता बरती जाए और इसमें बिचौलियों की किसी तरह की भूमिका नहीं होनी चाहिए. श्रमिकों के हित से किसी तरह की लापरवाही नहीं बरती जानी चाहिए.

बैंक खाते में मजदूरी की राशि प्रतिमाह समय पर भेजी जाए

मुख्यमंत्री ने बीआरओ के अपर पुलिस महानिदेशक से कहा कि झारखंड राज्य के कामगारों / श्रमिकों को श्रम कानूनों के प्रावधानों के अंतर्गत उनके बैंक खाते में मजदूरी की राशि हर महीने समय पर भेजे जाने को सुनिश्चित किया जाना चाहिए. चूंकि ये कामगार अथवा श्रमिक दुर्गम व कठिन क्षेत्रों में सड़क निर्माण का कार्य करते हैं, अतः इनकी सुरक्षा का पूरा ख्याल भी रखा जाए.

झारखंड के श्रमिकों का बहुमूल्य योगदान

बीआरओ के अपर पुलिस महानिदेशक ने मुख्यमंत्री को बताया कि झारखंड राज्य के कामगार देश के सीमावर्ती क्षेत्रों में सड़क निर्माण कार्य में शुरु से ही बहुमूल्य योगदान देते आ रहे हैं. यहां के कामगारों के कार्य की सराहना बीआरओ के द्वारा हमेशा से की जाती रही है. यहां से जो कामगार देश के सीमावर्ती क्षेत्रों में सड़क निर्माण कार्य के लिए जा रहे हैं. इनकी सुरक्षा, मजदूरी और कल्याण को लेकर बीआरओ सभी समुचित कदम उठाए.

मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन और बॉर्डर रोड ऑर्गनाइजेशन के अपर पुलिस महानिदेशक अनिल कुमार के बीच मुलाकात के दौरान मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव –सह-प्रधान सचिव, श्रम, नियोजन एवं प्रशिक्षण विभाग राजीव अरुण एक्का भी मौजूद थे.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.