कन्‍नड़ सिनेस्‍टार कर रहे ड्रग्स का इस्तेमाल, फोरेंसिक जांच में पुष्टि

by

कन्नड़ फिल्म इंडस्ट्री में ड्रग्स के इस्तेमाल धड़ल्‍ले से हो रहा है. इन आरोपों की जांच बेंगलुरु पुलिस कर रही  है. पुलिस ने खुलासा किया है कि इंडस्ट्री के मादक पदार्थों में डूबे होने के आरोप सही हैं. 

फॉरेंसिक रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने बताया, बीते वर्ष जिन अभिनेता-अभिनेत्रियों को मादक द्रव्यों के इस्तेमाल में गिरफ्तार किया था, उनमें से कई नशे के आदी थे.

कन्नड़ फिल्म अभिनेत्री संजना गलरानी, रागिनी द्विवेदी, पार्टियां करने वाला वीरेन खन्ना और पूर्व मंत्री जीवराज अल्वा का बेटा आदित्य अल्वा ड्रग्स के मामले में गिरफ्तार हुए थे.

पुलिस आयुक्त कमल पंत ने बताया, बीते वर्ष सितंबर में यह केस दर्ज किया गया था और बंगलूरू पुलिस ने एक वर्ष से कम समय में इसकी जांच पूरी कर ली है.

सिटी क्राइम ब्रांच (सीसीबी) ने अहम सुबूत जुटाए, जिनकी वजह से फोरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (एफएसएल) से सकारात्मक रिपोर्ट मिली है और मजबूत केस बना.

पुलिस ने अदालत में आरोप पत्र दाखिल कर दिया है. उन्होंने कहा कि वह फिलहाल मसले पर कोई राय नहीं रखना चाहते, हालांकि एफएसएल रिपोर्ट से साफ है कि ड्रग्स का इस्तेमाल किया जा रहा था.

इंडस्ट्री से जुड़े लोगों के अलावा कुछ अफ्रीकी लोगों को भी गिरफ्तार किया गया था. वहीं, जांच के दौरान जानकारियां लीक करने के आरोपी कुछ पुलिसकर्मी भी निलंबित किए गए थे.

सीसीबी ने जांच तब शुरू की थी, जब नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने मोहम्मद अनूप, रिजेश रविंद्रन और अनिखा दिनेश को अगस्त 2020 में ड्रग्स रखने के आरोप में गिरफ्तार किया था.

शुरुआती जांच के बाद एनसीबी ने दावा किया था कि गिरफ्तार किए गए लोग कन्नड़ फिल्म उद्योग से जुड़े लोगों को ड्रग्स की आपूर्ति कर रहे थे.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.