Chhath Puja 2019: छठ पूजन में हैं बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ जैसे कई संदेश

by

Ranchi: Chhath Puja 2019– नहाय-खाय के साथ गुरुवार को लोक आस्‍था का महापर्व छठ शुरू हो गया. शुद्धता-‍पवित्रता के इस पावन पर्व के चार दिवसीय अनुष्‍ठान के पहले दिन व्रतियों ने नहाय-खाय के साथ छठी मइया से मंगलकामना की. घरों में तालाबों-नदियों से जल भरकर लाए गए. इसके बाद स्‍वच्‍छता से प्रसाद बनाया गया.

पंडित रामदेव पांडेय ने बताया कि शुक्रवार को लोहंडा का प्रसाद ग्रहण करने के बाद छठव्रतियों का 48 घंटे का निर्जला उपवास शुरू होगा. शनिवार शाम को भगवान भाष्‍कर के अस्‍ताचलगामी स्‍वरूप को अर्ध्‍य दिया जाएगा. रविवार को उदीयमान सूर्य को अर्घ्‍य देने के बाद चार दिनों के अनुष्‍ठान का समापन होगा.

पंडित रामदेव ने कहते हैं कि छठ एक ऐसा पर्व है कि श्रद्धलु इसमें बेटी की कामना करते हैं. उन्‍होंने बताया कि लोग अक्‍सर बेटा के लिए पूजा पाठ करते हैं. लेकिन छठ ऐसा एक मात्र उपासना है जिसमें लोग बटियों की मनोकामना करते हैं.

Read Also  Aadhar PAN link last Date: Aadhaar से PAN को लिंक करने की फिर बढ़ी डेडलाइन

पंडित रामदेव ने बताया कि छठ पर्व को हमेशा शालिनता और शुद्धता से करनी चाहिए. छठ से जुड़ी सभी खास बातें जानने के लिए देखिए पूरा वीडियो.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.