Take a fresh look at your lifestyle.

Arjun Munda पर केंद्रीय नेतृत्व की नजर, मेनिफेस्टो कमेटी में शामिल

0


Ranchi: भारतीय जनता पार्टी ने झारखंड राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा को लोकसभा चुनाव के लिए घोषणा पत्र समिति (मेनिफेस्टो कमेटी) में शामिल किया है. केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह इस समिति की अध्यक्षता करेंगे.

बीजेपी की घोषणा पत्र समिति में अरुण जेटली, निर्मला सीतारमण, थावरचंद गहलोत, रवि शंकर प्रसाद, पीयूष गोयल, मुख्तार अब्बास नकवी, के जी अलफोंस, शिवराज सिंह चौहान, किरण रिजिजू, सुशील मोदी, केशव प्रसाद मौर्य, अर्जुन मुंडा, राम माधव, भूपेन्द्र यादव, नारायण राणे, मीनाक्षी लेखी, संजय पासवान, हरी बाबू, राजेन्द्र मोहन सिंह चीमा सरीखे बड़े नेताओं को भी शामिल किया गया है.

पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने संकल्प पत्र समिति के अलावा दो और प्रचार-प्रसार तथा सामाजिक-स्वयंसेवी संगठन संपर्क समिति भी बनाई है. प्रचार-प्रसार समिति में अरुण जेटली, पीयूष गोयल, राज्यवर्धन राठौर, अनिल जैन, महेश शर्मा, सतीश उपाध्याय, राजीव चंद्रशेखर, ऋतुराज सिन्हा शामिल हैं.

जबकि सामाजिक-स्वयंसेवी संगठन संपर्क समिति में नितिन गडकरी, कैलाश विजयवर्गीय, सदानंद गौड़ा, कलराज मिश्र, शिव प्रसाद शुक्ला, विजय सार्पला, एस एस अहलूवालिया, बंडारु दत्तात्रेय, सरदार आर पी सिंह, मांगेराम गर्ग, एल गणेशन, लक्ष्मीकांत वाजपेयी और भूपेन्द्र सिंह चूडासमा शामिल हैं.

गौरतलब है कि देश के कई राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों में भी अर्जुन मुंडा को स्टार प्रचारकों की सूची में शामिल किया जाता रहा है. खास कर आदिवासी इलाके में रणनीति संभालने में मुंडा को अहम जिम्मेदारी मिलती रही है.

इनके अलावा भारतीय जनता पार्टी में जनजातीय मामलों को लेकर होने वाली बैठकों में भी अर्जुन मुंडा को प्रमुखता से शामिल किया जाता रहा है.

छत्तीसगढ़, राजस्थान और मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद झारखंड में बीजेपी सरकार के कामकाज और नीतिगत सवालों को लेकर भी अर्जुन मुंडा से रायशुमारी  की गई है. सेंकत इसके भी मिल रहे हैं कि लोकसभा चुनाव में पार्टी मुंडा को और अहम जिम्मेदाारी दे सकती है.

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More