Take a fresh look at your lifestyle.

गैर-हिंदू जोमैटो डिलीवरी बॉय के कारण खाने का ऑर्डर किया कैंसिल

0

New Delhi: आजकल हर कोई खाना ऑनलाइन ऑर्डर करता है. और कई बार ऑर्डर किया हुआ खाना कैंसिल भी करना पड़ता है. लेकिन, जोमैटो के पास एक ऐसा मामला सामने आया है जो चर्चा का विषय बना हुआ है. वजह यह है कि ग्राहक ने जोमैटो के डिलीवरी बॉय के गैर-हिंदू होने पर अपना ऑर्डर कैसिंल कर दिया.

हुआ ये कि दिल्‍ली में अमित शुक्ल नामक व्‍यक्ति ने जोमैटो से खाना ऑर्डर किया. जोमैटो का डिलीवरी ब्वॉय वक्‍त पर खाना लेकर भी पहुंचा. डिलीवरी बॉय गैर हिंदू था. इसपर अमित ने कंपनी से आपत्त‍ि जतायी और ऑर्डर कैंसल करने को कहा. यही नहीं बाद में उन्होंने जोमैटो ऐप अनइंस्टॉल कर दिया. मामले की जानकारी अमित शुक्ल ने सोशल मीडिया पर शेयर की.

Just cancelled an order on @ZomatoIN they allocated a non hindu rider for my food they said they can’t change rider and can’t refund on cancellation I said you can’t force me to take a delivery I don’t want don’t refund just cancel

— पं अमित शुक्ल (@NaMo_SARKAAR) July 30, 2019

@NaMo_SARKAAR के ट्विटर आईडी वाले पं अमित शुक्ल ने 30 जुलाई को अपने ट्विटर वॉल पर लिखा कि जोमैटो पर एक ऑर्डर मैं फौरन कैंसल कर दिया. क्योंकि कंपनी ने एक गैर-हिंदू राइडर को खाना पहुंचाने के लिए भेज रहे थे. उन्होंने कहा कि वे राइडर चेंज नहीं कर सकते और ऑर्डर कैंसल करने पर रिफंड भी नहीं करना चाहते. आगे उन्होंने लिखा कि मैंने कहा कि आप मुझे डिलिवरी लेने के लिए मजबूर नहीं कर सकते. मैं रिफंड के पक्ष में नहीं हूं, बस कैंसल कर दीजिए.

शुक्ल ने दूसरा ट्वीट भी किया जिसमें उन्होंने जानकारी दी कि उन्होंने अपने फोन से जोमैटो ऐप हटा दिया है. उन्होंने लिखा कि जोमैटो मुझ पर उन लोगों से डिलीवरी लेने का दबाव बनाती है जिनसे वे लेने के इच्छुक नहीं हैं. फिर कंपनी न रिफंड ही  करती है और न सहयोग करती है. मैं अपने फोन से ऐप हटा रहा हूं. इस मुद्दे पर मैं वकीलों से डिसकस करूंगा.
मामले पर कंपनी ने जवाब नहीं दिया. जोमैटो की ओर से ट्वीट किया गया कि भोजन का कोई धर्म नहीं होता है. यह खुद में एक धर्म की तरह है. जोमैटो के संस्थापक दीपिंदर गोयल ने जवाब में कहा कि हमें आइडिया ऑफ इंडिया और हमारे सम्मानित ग्राहकों एवं पार्टनरों की विविधता पर गर्व है. हमें हमारे मूल्यों के रास्ते में आड़े आने वाला बिजनस खोने पर कोई दुख नहीं लग रहा है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More