क्या कोरोना वैक्सीन लेने से आप नपुंसक हो सकते हैं ?

by

New Delhi: भारत में आधिकारिक संस्था DCGI की तरफ से दो वैक्सीन कोवाक्सिन (Covaxin) और कोविशील्ड (Covishield) को आपातकालीन नियंत्रित इस्तेमाल की मंजूरी दी गई है. इसके साथ ही चर्चाओं को बाजार भी गर्म है. कुछ लोग कह रहे हैं कि कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) लेने से नपुंसकता हो सकती है. इस बारे में आधिकारिक एजेंसी DCGI निदेशक वीजी सोमानी (VG Somani) की राय जानते हैं .

प्रेस वार्ता में ये सवाल सोमानी के सामने पत्रकारों ने भी रखा तो वे पूरी तरह भड़क गए. उन्होंने साफ कहा कि ये अफवाह है और कोरोना वायरस (Coronavirus) वैक्सीन को लेकर भ्रामक प्रचार की साजिश है. कोरोना वैक्सीन लेने से नपुंसकता नहीं हो सकती साथ ही स्वास्थ्य के नजरिए से वैक्सीन का कोई प्रतिकूल लंबे समय तक असर नहीं पड़ने वाला है. सोमानी ने स्पष्ट किया कि वैक्सीन लेने के बाद सर्दी, जुकाम और मामूली बुखार की शिकायतें हो सकती है. जो चंद दिनों के बाद ठीक हो जाएगा. कोरोना वैक्सीन से लोगों की इम्युनिटी बढ़ेगी और हर्ड इम्युनिटी के जरिए हम कोरोना महामारी को मात देने में सक्षम हो पाएंगे.

DCGI प्रमुख के मुताबिक कुछ लोग गलत इरादों से वैक्सीन के साइड इफेक्ट को लेकर बढ़ा चढ़ाकर बातें कर रहे हैं. लोगों को ये कहकर डराया जा रहा है कि वैक्सीन लेने के बाद नपुंसकता आ जाएगी. सोमानी ने इन बातों को सिरे से खारिज करते हुए इन्हें बकवास बताया. वीजी सोमानी ने लोगों से अपील की है कि वैक्सीन के प्रभाव को लेकर लोग सोशल मीडिया के भ्रामक प्रचार से दूर रहें.

DCGI प्रमुख वीजी सोमानी ने साफ कहा कि कोरोना वैक्सीन 110 फीसदी सुरक्षित है. सोमानी ने जिम्मेदारी के साथ कहा कि अगर वैक्सीन की सुरक्षा को लेकर जरा भी संदेह होता तो उसे अप्रूव किया ही नहीं जाता. लोगों को बताया जा रहा है कि वैक्सीन लेने के बाद मामूली शारीरिक परेशानियों से घबराने की जरूरत नहीं है.

वैक्सीन को लेकर सियासत जारी

इससे पहले यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने वैक्सीन को बीजेपी की वैक्सीन बताते हुए इसे लेने से इनकार कर दिया है. कई राजनीतिक पार्टियां गैर जिम्मेदाराना तरीके से वैक्सीन को बीजेपी की वैक्सीन बता रही है. सपा विधायक आशुतोष सिन्हा ने तो वैक्सीन के बारे में कह दिया कि इससे लोग नपुंसक हो जाएंगे. अगर चुने हुए जनप्रतिनिधि ही इस तरह की बातें करेंगे तो फिर आम लोगों में डर का माहौल बढ़ेगा. आने वाले समय में उम्मीद की जा रही है कि सरकार इसके खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी साथ ही दुष्प्रचार करने वालों को दंडित भी किया जाएगा.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.