झारखंड में अंचल कार्यालय के अंदर-बाहर और रेकॉर्ड रूम में लगेंगे कैमरे, डीसी करेंगे मॉनिटरिंग

by

Ranchi: झारखंड के सभी अंचल कार्यालय में सीसीटीवी लगाएं. कैमरे अंचल निरीक्षक कार्यालय, रेकॉर्ड रूम, निबंधन कार्यालय में लगने चाहिए. सीसीटीवी की जद में कार्यालय के अंदरूनी,बाहरी तथा रेकॉर्ड रूम शामिल हों. सीसीटीवी का नियंत्रण कक्ष जिला के उपायुक्त कार्यालय में स्थापित किया जाए, जिसकी मोनिटरिंग उपायुक्त करेंगे. यह कार्य एक माह के अंदर सुनिश्चित होना चाहिए. ये निदेश मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने राजस्व, निबंधन एवं भूमि सुधार विभाग के कार्यों की समीक्षा के दौरान अधिकारियों को दिया.

मुख्यमंत्री ने कहा कि सीसीटीवी के रिकॉर्ड लंबे समय तक सुरक्षित रहें. इसके लिए आधुनिक तकनीक को प्राथमिकता दें.

पदाधिकारी आवंटित आवास में ही रहें, यह सुनिश्चित करें

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रखंड/अंचल कार्यालय के पदाधिकारी कार्यालय परिसर में निर्मित आवास में ही रहेंगे. यह विभाग के वरीय अधिकारी सुनिश्चित करेंगे. पदाधिकारियों की मुख्यालय से बाहर रहने की परिपाटी बंद होनी चाहिए.

अमीन नियुक्ति के लिए आधुनिक प्रशिक्षण दें

मुख्यमंत्री ने कहा कि अमीन राजस्व संग्रह में बड़ी भूमिका निभा सकते हैं. पूरे राज्य में अमीन के आवश्यक रिक्त पदों को भरने की प्रक्रिया प्रारंभ करें. प्रमंडल स्तर पर अमीन की पढ़ाई सुनिश्चित हो. उनका एक वर्षीय प्रशिक्षण समय की मांग और आधुनिक तकनीक के साथ होना चाहिए. अमीनो की आवश्यकता का आकलन कर इनकी नियुक्ति की प्रक्रिया पूरी करें.

ससमय सम्मान राशि उपलब्ध कराएं

मुख्यमंत्री ने कहा कि मानकी, मुंडा, ग्राम प्रधान, डाकुआ के अतिरिक्त उनके समरूप अन्य पारंपरिक पदों पर कार्यरत लोगों को ससमय सम्मान राशि उपलब्ध कराएं. सभी को माह की पहली तारीख पर उनके बैंक खाते में सम्मान राशि मिलनी चाहिए. यह जिला के उपायुक्त सुनिश्चित करेंगे. विभाग इससे संबंधित आदेश निर्गत करे.

टाना भगत समुदाय को आवास दें

मुख्यमंत्री ने आदेश दिया कि टाना भगत समुदाय के लोगों की वर्तमान में कितनी जनसंख्या है, इसका आंकलन करें. टाना भगत समुदाय को सरकार की योजनाओं से कितना लाभान्वित किया गया, इसका ब्योरा दें. समुदाय के लोगों को योजनाओं से आच्छादित करने की प्रक्रिया में तेजी लाएं. रांची के बनहौरा में निर्मित अतिथि गृह यथाशीघ्र टाना भगत समुदाय के लोगों को सुपुर्द करें.

बैठक में विकास आयुक्त के के खंडेलवाल, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का, सचिव राजस्व, निबंधन एवं भूमि सुधार विभाग कमल किशोर सोन, महानिरीक्षक निबंधन विप्रा भाल, निदेशक भू-अर्जन कर्ण सत्यार्थी उपस्थित थे.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.