Lockdown के बाद दिल्ली-NCR में हमेशा के लिए बदल जाएगा लोगों के सफर का अंदाज

by

New Delhi: लॉकडाउन के बाद सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था में बदलाव दिखेगा. हवाई जहाज, ट्रेन, मेट्रो व बस में सफर करने का तौर तरीका बदल जाएगा. शारीरिक दूरी का पालन करते हुए सफर करने की इजाजत होगी और इसकी तैयारी भी शुरू हो गई है. एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, बस अड्डा व मेट्रो स्टेशन में प्रवेश के नियम बदलने के साथ ही बस, ट्रेन व मेट्रो में बैठने की व्यवस्था में भी बदलाव होगा.

दिल्ली-एनसीआर में रोजाना लाखों लोग सार्वजनिक परिवहन से सफर करते हैं, इसलिए लॉकडाउन के बाद सुरक्षित आवागमन की व्यवस्था करना बड़ी चुनौती है.

बसों में कम करनी होगी भीड़

दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) और क्लस्टर बसों में भीड़ बड़ी समस्या है.

पहले की तरह बसों में भीड़ होगी तो संक्रमण फैलने का खतरा रहेगा. इसे ध्यान में रखकर सरकार सुरक्षित तरीके से बसों को चलाने की योजना बना रही है. दिल्ली सरकार से जुड़े एक वरिष्ठ अधिकारी कहते हैं कि राजधानी में यदि वर्क फ्रॉम होम को बढ़ावा मिलता है और यदि कार्यालय, बाजार व औद्योगिक इकाइयां अलग-अलग पाली में चलने की योजना बनाती हैं तो सुरक्षित आवागमन भी आसान होगा. ऐसे में अतिरिक्त बसों व अन्य वाहनों की भी जरूरत नहीं पड़ेगी। साथ ही ऑटो, ई-रिक्शा, ग्रामीण सेवा के लिए भी नीति बनाई जा रही है जिससे कि लोग सुरक्षित सफर कर सकें.

सुरक्षित रेल सफर के लिए चल रहा है मंथन

नई दिल्ली, पुरानी दिल्ली, आनंद विहार व हजरत निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन से रोजाना लाखों लोग सफर करते हैं. इतनी बड़ी भीड़ को सुरक्षित सफर कराना बड़ी चुनौती है और पिछले कई दिनों से इसे लेकर रेल अधिकारी मंथन कर रहे हैं. थर्मल स्कैनिंग और कंफर्म टिकट होने के बाद ही स्टेशन परिसर में प्रवेश मिलेगा. मास्क भी अनिवार्य होगा. एक कोच में यात्रियों की संख्या कम करने की संभावना भी तलाशी जा रही है. अगले कुछ माह तक ट्रेन में खानपान सेवा भी बंद रहेगी. इसी तरह से वातानुकूलित श्रेणी के यात्रियों को कंबल भी नहीं मिलेगा. शारीरिक दूरी का सख्ती से पालन हो, इसके लिए स्टेशन से लेकर ट्रेन तक में कर्मचारियों की जिम्मेदारी तय की जाएगी.

मेट्रो के सफर में होंगे कई बदलाव

दिल्ली-एनसीआर में मेट्रो का नेटवर्क करीब 389 किलोमीटर है और रोजाना 30 से 35 लाख लोग सफर करते हैं. यह लोगों के लिए लाइफ लाइन की तरह है, इसलिए लॉकडाउन के बाद मेट्रो का परिचालन शुरू होने पर भीड़ बढ़ सकती है. ऐसे में दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) के अधिकारी भीड़ नियंत्रित करने के लिए मंथन कर रहे हैं. अधिकारियों के अनुसार सभी मेट्रों स्टेशन पर थर्मल स्कैनिंग की व्यवस्था की जा सकती है। स्थिति सामान्य होने तक यात्रियों को एक सीट छोड़कर बैठने के लिए प्रेरित किया जाएगा.

एयरपोर्ट पर बदल जाएगी व्यवस्था

इंदिरा गांधी इंटरनेशनल (आइजीआइ) एयरपोर्ट पर लॉकडाउन खुलने के बाद नजारा पूरी तरह बदला हुआ होगा. यात्रियों व एयरपोर्ट कर्मचारियों को स्क्रीनिंग के बाद ही टर्मिनल में प्रवेश मिलेगा. शारीरिक दूरी का पालन कराने के लिए क्यू मैनेजर की तैनाती होगी. यात्रियों को खुद से चेकइन करने की व्यवस्था की जाएगी. सामान को सैनिटाइज करने व कुछ अन्य कार्य के लिए विशेष मशीन लगाए जाने की योजना है. एयरपोर्ट पर सुरक्षा में लगी सीआइएसएफ के जवानों को संक्रमण से बचाने के लिए पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्वीपमेंट (पीपीई) किट दिया जाएगा. इस एयरपोर्ट से रोजाना 13 सौ उड़ानों का संचालन होता है और लगभग डेढ़ लाख लोग सफर करते हैं.

Categories Delhi

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.