रांची का क्षेत्रीय संस्‍थान व पीएंडटी कॉलोनी बेचेगा बीएसएनएल

रांची का क्षेत्रीय संस्‍थान व पीएंडटी कॉलोनी बेचेगा बीएसएनएल

Ranchi: घाटे में चल रहा भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) रांची शहर के वद्धर्ममान कंपाउंड स्थित पीएंडटी कॉलोनी और एनएच-33 पर जुमार पुल के निकट स्थित एडवांस रिजनल टेलीकॉम ट्रेनिंग सेंटर (एआरटीटीसी, क्षेत्रीय प्रशिक्षण संस्‍थान) की जमीन बेचेगा.

दोनों संपत्तियों का आकलन करा लिया गया है. इससे संबंधित रिपोर्ट बीएसएनएल के अधिकारियों ने सुझाव के साथ कॉरपोरेट ऑफिस को भेज दी है. रिपोर्ट में एआरटीटीसी की आधी जमीन बेचने का सुझाव दिया गया है.

रिपोर्ट के मुताबिक, दोनों संपत्तियों के मामले में इनकी बिक्री करने के साथ लीज देने या अन्‍य विकल्‍प पर भी विचार किया जा सकता है. लेकिन इस मुद्दे पर अंतिम निर्णय कॉरपोरेट ऑफिस ही करेगा.

कॉरपोटेट ऑफिस से फैसला होने के बाद आगे की कार्यवाही आरंभ की जाएगाी. जानकारी के अनुसार बीएसएनएल देश भर में मौजूद अपनी संपत्ति का ब्‍योरा तैयार कर रहा है, ताकि इसका विनिवेश हो सके. इसी कड़ी में रांची स्थित दो संपत्तियों का ब्‍योरा तैयार किया गया है. बीएसएनएल घाटे से उबरने के लिए विनिवेश की ओर बढ़ रहा है.

Read Also  रामकुमार दीपक बने जीडीएस संघ के प्रमंडलीय सचिव

बीएसएनएल के सीजीएम केके ठाकुर ने बताया कि कॉरपोरेट ऑफिस से जमीनों का आकलन करने को कहा गया था. इसमें रांची की पीएंडटी कॉलोनी और जुमार पुल के निकट रिजनल ट्रेनिंग इस्‍टीच्‍यूट की जमीन के बारे में सूचना मांगी गई थी. सारी सूचनाएं दे दी गई हैं. अब कॉरपोरेट ऑफिस तय करेगा कि इनका क्‍या करना है.

बीएसएनएल ने देश भर में अपनी जमीन बेचकर 20 हजार करोड़ रुपये जुटाने की कवायद शुरू की है. इसके लिए कंपनी वैसी जमीनें चिन्हित कर रही है, जिसकी उपयोगिता नहीं है. रांची के पीएंडटी कॉलोनी और जुमार पुल के पास की जमीन को इसी केटेगरी में आंका गया है.

कर्मचारियों को नहीं मिल रहा वेतन

बीएसएनएल कई माह से वित्‍तीय संकट से जूझ रहा है. वेतन के साथ-साथ अन्‍य भुगतान के लिए कंपनी के पास पैसे की कमी है. इसका असर झारखंड में भी है. बता दें कि 1.7 लाख कर्मचारियों वाली बीएसएनएल सबसे ज्‍यादा घाटा सहनेवाली टॉप सरकारी कंपनी (पीएसयू) है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to Top