बंगाल के बीजेपी अध्‍यक्ष ने सीएए के विरोधी बुद्धिजीवियों को कहा शैतान का कीड़ा

by

Kolkata: पश्चिम बंगाल के बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष अपने विवादित बयानों के कारण फिर सुर्खियों में हैं. दिलीप घोष ने अब कहा है कि सीएए का विरोध करने वाले बुद्धिजीवी शैतान और कीड़ा हैं.

देश में सीएए और एनआरसी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी है. वहीं देश में सत्ताधारी पार्टी बीजेपी देश के लोगों को इस बारे में समझाने के बजाए अपने बयानों से लोगों के बीच नफरत फैलाने का काम कर रहे हैं.

दिलीप घोष पहले भी दे चुके हैं विवादित बयान

इससे पहले भी दिलीप घोष ने सीएए के खिलाफ प्रदर्शन करने वालों पर विवादित बयान दे चुके हैं. उन्होंने कहा था, “नागरिकता कानून को लेकर हिंसक प्रदर्शनों के दौरान जिस तरह उत्तर प्रदेश में उपद्रवियों को गोली मारी गई, उसी तरह वह बंगाल में भी अराजक तत्वों को कुत्तों की तरह गोली मारेंगे.”

जानकारी के अनुसार, नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों के खिलाफ विवादित बयान को लेकर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. प्रदर्शनकारियों को कुत्ते की तरह गोली मारने वाले बयान को लेकर उनके खिलाफ दो और एफआइआर दर्ज कराई गई है. इस बार माकपा के यूथ विंग के नेताओं ने एफआइआर दर्ज कराई हैं.

दिलीप घोष के खिलाफ हुगली और दार्जिलिंग में एफआईआर

जानकारी के अनुसार, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष के खिलाफ नवीनतम एफआइआर हुगली और दार्जिलिंग जिलों में दर्ज कराई गई है. इससे पहले तृणमूल कांग्रेस ने उनकी इस विवादित टिप्पणी के खिलाफ नदिया और उत्तर 24 परगना जिले में दो ऐसी शिकायतें दर्ज कराई थी. माकपा की यूथ विंग डेमोक्रेटिक यूथ फेडरेशन ऑफ इंडिया (डीवाइएफआइ) की सिंगूर उत्तर स्थानीय समूति के सचिव सुमन पाल ने दिलीप घोष के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है.

बता दें कि हाल ही में बंगाल के नदिया जिले में एक सभा को संबोधित करते हुए प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए कहा था कि दीदी की पुलिस ने सार्वजनिक सपंत्तियों को नुकसान पहुंचाने वालों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की क्योंकि वे उनके वोटर थे. उन्होंने कहा कि भाजपा शासित राज्यों उत्तर प्रदेश, असम और कर्नाटक में इन लोगों को कुत्तों की तरह गोली मारी. घोष के इस बयान को लेकर उनकी पार्टी से लेकर विपक्षी दलों ने कड़ी आलोचना की.

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने हाल में पीएम नरेंद्र मोदी की कोलकाता यात्रा के दौरान उनसे मुलाकात करने को लेकर मुख्यमंत्री व तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी पर गुरुवार को फिर हमला बोला. घोष ने सवाल करते हुए कहा कि क्या कोई कह सकता है कि ममता तेज दिमाग की हैं? उन्होंने कहा कि हाल में पीएम से मुलाकात के बाद ममता का बयान दर्शाता है कि वह हताशा की ऊंचाई पर पहुंच गई हैं.

घोष ने कहा, जब मुख्यमंत्री को दिल्ली बुलाया जाता है तो वह नहीं जाती हैं. वह कहती हैं कि बंगाल के लिए धन की मांग करने के लिए उन्होंने यहां शनिवार को प्रधानमंत्री मोदी से मिलीं और साथ ही उनसे नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) को वापस लेने की मांग की. घोष ने ममता के इस बयान पर सवाल उठाते हुए कहा कि कोई भी हमारे घर आता है तो उसे हम चाय देते हैं. क्या हम पैसे मांगते हैं, या उसे कानून बदलने के लिए कहते हैं?

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.