बिहार बोर्ड की मैट्रिक परीक्षा आज से शुरू, कोरोना गाइडलाइन को लेकर पुराने नियमों में खास छूट

by

Patna: कोरोना गाइडलाइन के साथ आज से पहली बार बिहार बोर्ड के मैट्रिक के परीक्षा शुरू हो रही है. बिहार बोर्ड की तरफ से परीक्षा को लेकर व्यापक इंतजाम किए गए हैं. राज्य में कुल 1525 परीक्षा केंद्रों पर आज से इसकी शुरुआत होगी और आगामी 24 फरवरी मैट्रिक की परीक्षा ली जाएगी. बिहार में इस साल मैट्रिक की परीक्षा में 16 लाख 84 हजार 466 परीक्षार्थी शामिल होंगे.

आज बुधवार को पहले दिन विज्ञान विषय की परीक्षा आयोजित होगी. कदाचार मुक्त परीक्षा कराने और नकल रोकने के लिए सभी परीक्षा केंद्रों के आसपास धारा 144 लागू कर दी गई है.

बिहार बोर्ड परीक्षार्थियों को निर्देश दिया है कि वह परीक्षा केंद्र में 10 मिनट पहले तक प्रवेश ले लें. इसके बाद परीक्षा केंद्र का मुख्य गेट बंद कर दिया जाएगा.

परीक्षार्थियों की सहूलियत के लिए बिहार बोर्ड ने एक और बड़ा फैसला किया है. अगर किसी परीक्षार्थी का एडमिट कार्ड गुम हो गया या वो छूट गया तो उस स्थिति में आधार नंबर, पैन कार्ड, वोटर आई कार्ड के जरिए भी परीक्षा केंद्र में उन्हें प्रवेश मिल पाएगा.

बिहार बोर्ड ने इस बार परीक्षा के लिए जो फॉर्मेट किया है उसमें सभी विषयों के अंदर 100 फ़ीसदी अतिरिक्त विकल्प दिए जाएंगे. हर प्रश्न का एक अतिरिक्त विकल्प रहेगा इससे परीक्षार्थियों को जवाब देने में सहूलियत होगी.

मैट्रिक परीक्षा में इस साल 8 लाख 37 हजार 830 छात्राएं और 8 लाख 46 हजार 664 छात्र शामिल हो रहे हैं. बोर्ड ने ठंड को देखते हुए परीक्षार्थियों को जूता मोजा पर परीक्षा केंद्र में जाने की अनुमति दी है. बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर ने कहा है कि ठंड के कारण छात्रों के हित में यह सुविधा दी गई है.

इसके पहले 2018 से इंटर और मैट्रिक की परीक्षा में जूता मोजा पहनने पर रोक लगा दी गई थी. परीक्षार्थियों को चप्पल पहनकर परीक्षा देने की अनुमति थी.

बोर्ड की तरफ से मैट्रिक परीक्षा को लेकर कंट्रोल रूम भी शुरू कर दिया गया है. मंगलवार से यह कंट्रोल रूम काम करने लगा है. परीक्षा के दौरान 24 फरवरी तक किसी भी तरह की परेशानी या शिकायत के लिए कंट्रोल रूम के नंबर पर फोन किया जा सकता है. कंट्रोल रूम का नंबर 0612 2230009 है.

बोर्ड ने परीक्षार्थियों की बड़ी संख्या को देखते हुए और कोरोना गाइडलाइन के मद्देनजर दो पालियों में परीक्षा का आयोजन किया है. पहली पाली सुबह 9:30 बजे से और दूसरी पाली दोपहर 1:45 से शुरू होगी. पटना जिला के 74 केंद्रों पर होगी.

पटना जिला के पटना सदर अनुमंडल में 33 पटना सिटी अनुमंडल में 14 दानापुर अनुमंडल में 9 बाढ़ अनुमंडल में 7 मसौढ़ी अनुमंडल में 5 एवं पालीगंज अनुमंडल में 6 केंद्रों पर परीक्षा संचालित होगी. परीक्षा के कदाचारमुक्त एवं शांतिपूर्ण आयोजन और विधि व्यवस्था संधारण के लिए डीएम डॉ चंद्रशेखर सिंह एवं वरीय पुलिस अधीक्षक उपेंद्र कुमार शर्मा द्वारा संयुक्त आदेश जारी किया गया है तथा पर्याप्त संख्या में दंडाधिकारी पुलिस पदाधिकारी एवं पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति की गई है.

सभी अधिकारियों को अपने-अपने ड्यूटी पर समय से उपस्थित होने तथा कदाचार मुक्त एवं शांतिपूर्ण परीक्षा के संचालन में अपेक्षित सहयोग प्रदान करने का निर्देश दिया गया है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.