Bihar Board इंटर का मूल्यांकन 28 फरवरी और मैट्रिक का 5 मार्च से शुरू

by

Patna: बिहार बोर्ड ने इंटर वार्षिक परीक्षा समाप्त होने के बाद मूल्यांकन की तिथि जारी कर दी है. इंटर मूल्यांकन 28 फरवरी से आठ मार्च और मैट्रिक मूल्यांकन पांच से 17 फरवरी तक चलेगा. यह जानकारी बोर्ड द्वारा सभी मूल्यांकन केंद्रों को दे दी गई है. हर जिले में उत्तरपुस्तिका की संख्या के अनुसार मूल्यांकन केंद्र बनाया गया है.

ज्ञात हो कि इंटर वार्षिक परीक्षा एक से 13 फरवरी तक आयोजित की गई. परीक्षा में 13 लाख 80 हजार के लगभग परीक्षार्थी शामिल हुए. वहीं, मैट्रिक की परीक्षा 17 से 24 फरवरी तक ली जाएगी. मूल्यांकन समय पर खत्म हो, इसके लिए बिहार बोर्ड द्वारा कई विषयों का मूल्यांकन दो पालियों में करवाया जायेगा. यह इंटर और मैट्रिक दोनों में लागू होगा.

इंटर में अंग्रेजी, भौतिकी, रसायन और गणित विषय का मूल्यांकन दो पालियों में किया जाएगा. वहीं, मैट्रिक का अंग्रेजी, हिन्दी, मैथिली, संस्कृत, विज्ञान, समाजिक विज्ञान और गणित विषय की उत्तर पुस्तिका का मूल्यांकन दो पालियों में किया जाएगा. प्रथम पाली सुबह आठ से दो बजे तक और द्वितीय पाली तीन से नौ बजे रात तक की जाएगी. प्रधान परीक्षक और सह परीक्षकों को सुबह 7.30 बजे तक निर्धारित समय पर केंद्रों पर पहुंच जाना है. 

11 घंटे से अधिक चलेगा मूल्यांकन

इंटर का मूल्यांकन इस बार ग्यारह घंटे से अधिक समय तक चलेगा. हर दिन सुबह 9.30 बजे से रात के दस बजे तक मूल्यांकन होगा. बोर्ड की मानें तो जिन विषयों में शिक्षकों की संख्या कम है, उन विषयों का मूल्यांकन दो पालियों में किया जायेगा. हर केद्र पर सौ से दो सौ के बीच परीक्षकों को नियुक्त किया गया है. मूल्यांकन हर जिला मुख्यालय में किया जायेगा. 

धारा 144 और पुलिस बल की होगी तैनाती

हर मूल्यांकन केंद्र पर अनाधिकृत व्यक्ति का प्रवेश ना हो, इसके लिए धारा 144 लागू किया जायेगा. साथ ही पुलिस बल की तैनाती होगी. मूल्यांकन केंद्र के दौ सौ गज की परिधि में कोई व्यक्ति नहीं रहेगा. हर मूल्यांकन केंद्र पर एक-एक मजिस्ट्रेट तथा आरक्षी बल, पुलिस पदाधिकारी के साथ प्रतिनियुक्त किये जाएंगे. कदाचार में लिप्त पाये जाने वाले दोषी व्यक्तियों के विरुद्ध बिहार परीक्षा संचालन अधिनियम-1981 के तहत कार्रवाई की जायेगी. 

कॉपी जांच के बाद अंकों को अपलोड किया जायेगा

हर दिन कॉपी जांच के बाद उत्तरपुस्तिकाओं के अंकों को कंप्यूटर पर अपलोड किया जायेगा. इसके लिए प्रत्येक मूल्यांकन केंद्र पर कम से कम सात कंप्यूटर अनिवार्य है. इनमें छह कंप्यूटर पर मूल्यांकित उत्तरपुस्तिकाओं के प्राप्तांकों को और एक कंप्यूटर मूल्यांकन केंद्र निदेशक द्वारा मूल्यांकन से संबंधित सभी आंकड़ों की प्रविष्टि कराई जायेगी. इसके लिए एक सरकारी स्कूल में लगभग 50 कंप्यूटर उपलब्ध करवाया गया है. 

ये सारे इंतजाम रहेंगे

  • मूल्यांकन केंद्र के बाहर बरामदे में और जहां उत्तरपुस्तिकाएं रखी रहेगी, वहां पर सीसीटीवी कैमरे लगाये जाएंगे
  • सीसीटीवी कैमरे का प्रसारण नियंत्रण कक्ष तथा जिला द्वारा चयनित स्थान पर किया जायेगा  
  • मूल्यांकन के समय मूल्यांकन केंद्र निदेशक मोबाइल ऑफ रखेंगे
  • परीक्षक, मूल्यांकन केंद्र निदेशक हर दिन कंप्यूटर पर अपनी उपस्थिति दर्ज करेंगे
  • सभी कंप्यूटर इंटरनेट से जुड़े होंगे। जिससे अंकों की प्रविष्टि पर बोर्ड द्वारा नजर रखी जा सकेगी
  • मूल्यांकन शुरू होने से पहले हर केंद्र को सेनेटाइज किया जायेगा 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.