भगवंत मान ने छोड़ी शराब, केजरीवाल खुश, बोले- पंजाब के सभी सीटों पर लड़ेंगे लोकसभा चुनाव

by

New Delhi: पंजाब के संगरूर से आम आदमी पार्टी के सांसद भगवंत मान ने कहा है कि उन्होंने शराब से तौबा कर ली है. रविवार को बरनाला में आयोजित पार्टी की रैली में सांसद भगवंतने बताया कि उन्होंने मां की सलाह पर शराब छोड़ दी है.

इसी रैली में शिरकत कर रहे आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भगवंत के इस निर्णय की जमनकर तारीफ की.

अरविंद केजरीवाल ने मान के शराब छोड़ने वाली बात पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि आज भगवंत मान ने उनका दिल जीत लिया.

जबकि मनीष सिसोदिया ने एक ट्वीट करके बताया है कि भगवंत मान ने शराब पीना छोड़ दी है. गौरतलब है कि मान के राजनीतिक विरोधी कई मौके पर शराब को लेकर उनकी आलोचना करते रहे हैं.

इसी बात पर बरनाला की रैली में भगवंत ने साफगोई से कहा, ”मेरे राजनीतिक विरोधी हमेशा मेरे ऊपर आरोप लगाते रहते हैं कि भगवंत मान तो दिन-रात शराब के नशे में रहता है. भाईयों, मुझे हमेशा इस बात का दुख रहता था. एक जनवरी से मैंने शराब छोड़ दी है.

कभी- कभी पीता था

मान ने यह भी कहा था ”मैं स्वीकार करता हूं कि कभी-कभी शराब पीता हूं. लेकिन मेरे विरोधियों ने इसके चलते मेरी छवि बहुत ज़्यादा ख़राब कर दी है. आज मेरी मां भी यहां आई है. मां ने कहा कि लोग टीवी पर मेरे बारे में बोलकर मुझे बेइज्ज़त करते हैं. उन्होंने मुझसे कहा कि मैं शराब छोड़ दूं तो लोग मुझे बेइज्ज़त नहीं कर पाएंगे. अब वे ज़िंदगी भर शराब को हाथ नहीं लगाएंगे ”

 तारीफ की

भगवंत ने जब बरनाला की रैली में मन की बात साझा की, तो केजरीवाल भी नहीं रूके. उन्होंने कहा कि भगवंत मान ने पूरे पंजाब का दिल जीत लिया है. एक नेता को ऐसा ही होना चाहिए जो अपनी जनता के लिए किसी भी तरह की क़ुर्बानी दे सके. इस तरह की शपथ लेना कोई आसान काम नहीं है.

गौर तलब है कि साल 2016 में आम आदमी पार्टी से निलंबित सांसद हरिंदर सिंह खालसा ने लोक सभा में स्पीकर सुमित्रा महाजन से शिकायत की थी कि उनकी सीट भगवंत मान से अलग कर दी जाए क्योंकि भगवंत मान से शराब की गंध आ रही है.

भगवंत मान के शराब छोड़ने के ऐलान करने और केजरीवाल का इस फैसले को  एक बड़ी कुर्बानी बताने पर सोशल मीडिया पर भी प्रतिक्रियाओं का दौर जारी है. आप पार्टी छोड़ चुके कपिल मिश्रा ने लिखा है, ”भगवंत मान दारू नहीं पियेगा ये घोषणा पत्र में लिखा जाएगा”

सभी सीटों पर

उधर अरविंद केजरीवाल ने बरनाला में साफ कर दिया है आप पंजाब में लोकसभा की सभी 13 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. दिल्ली या पंजाब में कांग्रेस के साथ कोई गठबंधन नहीं होगा. इस दौरान चंडीगढ़ से हरमोहन धवन को पार्टी का उम्मीदवार बनाने की घोषणा भी कर दी गई.

गौरतलब है कि आम आदमी पार्टी (आप) की पंजाब इकाई नेतृत्व में गुटबाजी का सामना कर रही है, यह जिक्र किए जाने पर पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने यहां रविवार को कहा था कि लालची और गंदे लोग पार्टी को छोड़ गए हैं और अब पंजाब में आम आदमी पार्टी मजबूत होगी.

Categories Delhi

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.