मरने से पहले महिला ने सुसाइड नोट पर लिखा- मोदी जी, क्‍या अच्‍छे दिन आए हैं

by

Agra:आगरा के ताजगंज क्षेत्र में रविवार को एक महिला ने आत्महत्या कर ली. आत्मघाती कदम उठाने से पहले उसने चार पन्नों का सुसाइड नोट लिखा. इसमें महिला ने अपना दर्द बयां किया है.

सुसाइड नोट में महिला ने आत्महत्या के लिए भाई को जिम्मेदार ठहराया. भाई ने मृतका के पति के नाम पर लोन लेकर लिए मोबाइल की ईएमआई जमा करने से इंकार कर दिया था.

इससे महिला तनाव में आ गई और आत्महत्या कर ली. वहीं सुसाइड नोट में नरेंद्र मोदी के ‘अच्छे दिन’ सहित उन वादों का भी जिक्र किया गया है, जो जनता से किए गए थे.

महिला ने लिखा है कि मोदी जी क्या अच्छे दिन आए हैं. लोन लेने के लिए हम जैसे लोगों को कितनी मेहनत करनी पड़ती है. आपने ट्रेनिंग सेंटर खोले. मैंने भी खंदौली से 800 रुपये देकर ट्रेनिंग ली थी.

कोर्स के बाद सर्टिफिकेट मिलेगा, जिससे लोन मिल जाएगा, लेकिन वहां से कुछ भी नहीं हुआ. हम जैसे लोगों को कोई लोन नहीं देता है. अब जाकर जैसे तैसे लोन मिला. दुकान खोली तो अपने आ गए छीनने के लिए.

ताजगंज के गांव-गांव धांधूपुरा निवासी महिला शशि ने शनिवार की रात फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. रविवार सुबह परिजनों ने उसका शव घर की रसोई में फांसी फंदे से लटका देखा तो परिवार में कोहराम मच गया. सूचना पर पहुंची थाना पुलिस को घर में चार पन्नों का सुसाइड नोट मिला है.

इसमें शशि ने अपनी मौत का जिम्मेदार अपने माता-पिता, भाई, बहन, देवर और देवरानी को ठहराया है. थाना प्रभारी ने बताया कि आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरित करने की धारा में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.