Take a fresh look at your lifestyle.

बाबूलाल मरांडी विदेश से रांची लौटे, जेवीएम की भाजपा में विलय की उल्‍टी गिनती शुरू

0 29

Ranchi: भारतीय जनता पार्टी में जाने की अटकलों के बीच पूर्व मुख्‍यमंत्री सह झाविमो प्रमुख बाबूलाल मरांडी का ताजा बयान आया है. भाजपा में जाने को लेकर बाबूलाल अभी गोलमोल जवाब दे रहे हैं. उन्‍होंने गुरुवार को रांची में कहा कि इस विषय पर मैं अभी कोई टिप्पणी नहीं करुंगा.

झाविमो के दो विधायकों प्रदीप यादव और बंधु तिर्की के रूख पर बाबूलाल ने कहा कि उनसे बातचीत कर आगे कोई निर्णय लेंगे. भाजपा में झाविमो के विलय के सवाल पर बाबूलाल ने कहा कि भाजपा चाहती है. अन्य दल भी चाहते हैं. यह सनसनी का विषय नहीं, जब बातें पक्की हो जाएगी तो निश्चित तौर पर सबको सूचित कर देंगे.

जबकि हकीकत यह है कि झारखंड विकास मोर्चा के भाजपा में विलय की उल्टी गिनती शुरू हो गई है. झाविमो प्रमुख बाबूलाल मरांडी रांची पहुंच गए हैं. वे रांची में अपने समर्थकों और नजदीकी कार्यकर्ताओं से मिल रहे हैं. वे आज ही झाविमो की नई कार्यसमित का गठन कर सकते हैं. इसके लिए झाविमो के दोनों विधायकों प्रदीप यादव और बंधु तिर्की को मनाने की कोशिश की जा रही है. कहा जा रहा है कि भारतीय जनता पार्टी में औपचारिक विलय के पहले झारखंड विकास मोर्चा की नई कार्यकारिणी प्रभाव में आ जाएगी.

इधर प्रदीप यादव के बारे में यह भी कहा जा रहा है कि वे भाजपा में विलय को तैयार हैं, लेकिन वे भाजपा में महत्‍वपूर्ण पद चाहते हैं. एक संभावना यह भी है कि दोनों विधायक अगर नहीं माने तो बाबूलाल कड़ा फैसला ले सकते हैं. दोनों विधायक झाविमो से निष्कासित भी किए जा सकते हैं. ऐसी परिस्थितियों में वे किसी अन्य दल में शामिल नहीं हो पाएंगे और बगैर तकनीकी परेशानी के झाविमो का भाजपा में विलय हो जाएगा.

इसके साथ ही झारखंड विकास माेर्चा 19 दिन पुरानी हेमंत सरकार से समर्थन अपना वापस लेगा. यह हेमंत सरकार को पहला झटका है. हालांकि झाविमो की समर्थन वापसी से हेमंत सरकार की सेहत पर फर्क नहीं पड़ेगा. इससे पहले झाविमो ने हेमंत सरकार को अपना समर्थन दिया था. झाविमो के तीन विधायक बाबूलाल मरांडी, प्रदीप यादव और बंधु तिर्की का समर्थन हेमंत सरकार को हासिल हुआ था.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.