Take a fresh look at your lifestyle.

मूसलाधार बारिश से पानी में डूबी पशुपतिनाथ मंदिर की अष्टमुखी मूर्ति

0

Bhopal: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में लगातार बारिश का दौर जारी है. मूसलाधार बारिश के चलते प्रदेश की कई नदियां उफान पर हैं. वाटर लेवल बढऩे से निचले इलाकों को खाली करवा दिया गया है. 16 और 17 अगस्त को भारी बारिश की चेतावनी (Weather Alert) के चलते प्रदेश के कुछ जिलों में स्कूलों में अवकाश घोषित कर दिया गया है. 

मध्य प्रदेश में लगातार हो रही बारिश के कारण नर्मदा, शिवना, बेतवा और ताप्ती नदियों के अलावा कई नदियां और नाले उफन पर हैं. इसके चलते मंदसौर, नरसिंहपुर, बैतूल, सागर जिलों के कई इलाकों में संपर्क कट गया है. मंदसौर में भी मूसलाधार बारिश के कारण हर तरफ पानी ही पानी है.

जलमग्‍न हुई मंदिर की मूर्ति

गुरुवार को रातभर हुई तेज बारिश के कारण पूरा मंदसौर पानी से तरबतर है. शिवना नदी (Water Level of Shivna river) इस कदर उफान पर है कि यहां के प्रसिद्ध पशुपतिनाथ मंदिर की अष्टमुखी मूर्ति पूरी पानी में डूब गयी है. सिर्फ शिव का त्रिशूल दिखाई दे रहा है. मंदसौर की कई निचली बस्तियों में भी हालात खराब हैं. काला भाटा स्थित अटल सागर बांध के छह गेट 8 फीट तक खोल दिए गए हैं. रेतम बेराज गाडगिल सागर के गेट भी खोलने पड़े, प्रशासन ने अलर्ट जारी किया है.

शाजापुर जिले में भी लगातार हो रही बारिश से स्कूलों में पानी भरने की प्राप्त हो रही सूचनाओं को देखते हुए कलेक्टर डॉ वीरेंद्र सिंह रावत ने 16 अगस्त को जिले के सभी शासकीय एवं अशासकीय विद्यालयों के विद्यार्थियों ( नर्सरी से लेकर हॉयर सेकेंडरी तक ) के लिए अवकाश घोषित किया है. उज्जैन में भी अवकाश घोषित कर दिया गया है. गुना और राजगढ़ में भी अवकाश घोषित कर दिया गया है. 

मौसम विभाग (IMD) ने अगले चौबीस घंटों के दौरान मंदसौर, रतलाम, नीमच, उज्जैन, आगर, आलीराजपुर, बड़वानी के साथ देवास, शाजापुर, राजगढ़, सीहोर, अशोकनगर, शिवपुरी, गुना, श्योपुर, धार, झाबुआ और मुरैना में भारी और कहीं अति भारी बारिश की चेतावनी जारी की है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More