Take a fresh look at your lifestyle.

सोशल मीडिया में आजसू ने झामुमो को दिया जवाब, हेमंत सोरेन से पूछे पांच तीखे सवाल

0

Ranchi: 2019 लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) का मुकाबला झारखंड (Jharkhand) में बड़ा दिलचस्‍प हो गया है. पार्टी और उम्‍मीदवार जितनी फाइट चुनावी मैदान में कर रहे हैं, उतना ही तूफानी सोशल मीडिया पर भी देखा जा रहा है.

आजसू पार्टी (Ajsu) की ओर से ऑफिशियल ट्वीटर हैंडल पर झारखंड मुक्ति मोर्चा (Jharkhand Mukti Morcha) के कार्यकारी अध्‍यक्ष हेमंत सोरेन (Hemant Soren) से पांच सवाल पूछे गये हैं. इस सवालों के जरिए आजसू ने सीएनटी-एसपीटी एक्‍ट, जेपीएससी, स्‍थानीय नीति, नियुक्ति के साथ हेमंत के परिचय पर भी सवाल खड़ा किया गया है.

झारखंड में लोकसभा चुनाव का सीधा मुकाबला दो बड़े गठबंधन के बीच है. यूपीए और एनडीए दोनों गठबंधन के साथ झारखंड अलग राज्‍य के लिए लड़ने वाली क्षेत्रीय पार्टी भी हैं. इस लोकसभा चुनाव में दोनों गठबंधन की झामुमो और आजसू एक-दूसरे के खिलाफ ताल ठोंक रहे हैं.

बता दें कि आजसू एनडीए की घटक दल है और झारखंड में एक मात्र सीट गिरिडीह से चुनाव लड़ रही है. वहीं झामुमो यूपीए का हिस्‍सा है और राज्‍य में 4 सीटों पर उम्‍मीदवार दिये हैं.

हेमंत सोरेन से  पूछे गये पांच सवाल

एक सीट पर लोकसभा चुनाव लड़ रही आजसू पार्टी ट्वीटर पर झामुमो पर पलटवार करते हुए पांच सवाल पूछे हैं. आजसू पार्टी के ऑफिशियल ट्वीटर हैंडल पर कहा गया कि मुद्दे से क्‍यों भटक जाते हैं आप लोग. बस पांच सवाल का जवाब दिजिए.

  • हेमंत सोरेन जी, क्या आपने CNT/SPT एक्ट के संशोधन प्रस्ताव पर सहमति दी थी या नहीं?
  • हेमंत सोरेन जी, आपने मुख्यमंत्री रहते हुए 6th JPSC से क्षेत्रीय भाषाओं को हटाने में सहमति प्रदान क्यों की?
  • हेमंत सोरेन जी, मुख्यमंत्री रहते आपने स्थानीय नीति क्यों नहीं बनाई ?
  • हेमंत सोरेन जी, आपके मुख्यमंत्रित्व काल में हुई नियुक्तियों में 50% से अधिक बाहरियों की नियुक्ति हुई थी या नहीं ?
  • हेमंत सोरेन जी, आप किस थाना क्षेत्र के निवासी हैं ?

झामुमो का आजसू पर हमला

आजसू पार्टी की ओर से सोशल मीडिया पर झामुमो के द्वारा उठाये गये सवाल के जवाब में पूछा गया है. झारखंड मुक्ति मोर्चा ने अपने ट्वीटर हैंडल पर अखबार की एक खबर की कतरन को टैग करते हुए आजसू पर हमला बोला था. ट्वीटर पर कहा गया कि राजनीति सिर्फ कुर्सी का खेल नहीं हो सकता. आजसू सुप्रीमो की निडरता अमि शाह के सामने कहां काफूर हो जाती है ? भगवान बिरसा मुंडा की मूर्ति लेने के लिए कुर्सी से उठने की जहमत भी नहीं उठाई और सुदेश महतो मुस्कराते रहे.

ajsu tweet

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More