Take a fresh look at your lifestyle.

झारखंड: सरायकेला में तबरेज अंसारी की पीट-पीटकर हत्‍या

0

Saraikela: मॉब लिंचिंग को लेकर पहले से सुर्खियों में रहे झारखंड में एक और घटना सामने आई है. सरायकेला जिले के धातकीडाह गांव में चोर बताकर जिस तबरेज अंसारी की पिटाई की गई थी, शनिवार, 22 जून को इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई है.

इस बीच युवक की पिटाई का एक वीडियो सोशल साइट पर वायरल हो रहा है. वीडियो में दिख रहा है कि तबरेज अंसारी को बिजली के खंभे में बांध कर पीटा जा रहा है.

सरायकेला के नवपदस्थापित पुलिस अधीक्षक कार्तिक एस ने तबरेज की मौत की पुष्टि की है. उन्होंने बताया है कि 18 जून को सरायकेला थाना क्षेत्र के धातकीडीह गांव में चोर बताकर युवक की पिटाई की गई थी. इसके बाद पुलिस के हवाले कर दिया.

पुलिस ने चोरी के आरोप में युवक को गिरफ्तार कर 19 जून को जेल भेज दिया था. 24 साल के तबरेज खरसावां थाना क्षेत्र के कदमाडीहा गांव के रहने वाले थे.

इस बीच जेल में युवक की तबीयत बिगड़ने के बाद इलाज के लिए सदर अस्पताल भेजा गया.  सदर अस्पताल से बेहतर इलाज के लिए टाटा मेन हॉस्पिटल रेफर किया गया. जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. तीन सदस्यीय मेडिकल बोर्ड का गठन कर तबरेज अंसारी के शव का पोस्टमार्टम कराया गया है.

तबरेज की पत्नी का आरोप

इधर तबरेज की पत्नी शाइस्ता ने प्राथमिकी में आरोप लगाया है कि तबरेज, जमशेदपुर से खरसावां लौट रहे थे. इस बीच धातकीडाह में भीड़ ने उनसे नाम पूछा और चोरी का आरोप लगाकर पिटाई की. पिटाई के दौरान  हिन्दूवादी नारे लगाने को बार- बार कहा जाता रहा. नारे नहीं लगाने पर निर्मम तरीके से पीटा गया.

शाइस्ता ने प्राथमिकी में बताया है कि चोरी का झूठा आरोप लगाया गया. और बांध कर रात भर पीटा गया. इससे उन्हें अंदरूनी चोटें पहुंची.इसके बाद भी पुलिस ने तबरेज क चोर बताकर जेल भेज दिया. उन्होंने इस घटना की उच्च स्तरीय जांच की मांग की है.

गौरतलब है कि इसी साल अप्रैल महीने में इन दोनों की शादी हुई थी.

100 लोगों पर एफआईआर, एक गिरफ्तार

पुलिस अधीक्षक ने बताया है कि तबरेज अंसारी की पिटाई के मामले में पप्पू मंडल नामक युवक को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है. वीडियो में भी पप्पू मंडल ही पिटाई करते देखा जा रहा है. जबकि पिटाई को लेकर 100 अज्ञात लोगों पर भी मामला दर्ज किया गया है. गिरफ्तार युवक के खिलाफ लिंचिंग की धारा लगाई गई है.

पुलिस अधिकारी के मुताबिक उनके योगदान किए तीन ही दिन हुए हैं, लिहाजा वे पूरे मामले की जानकारी ले रहे हैं. वीडियो की सत्यता के सवाल पर उन्होंने कहा कि पुलिस को भी यह वीडियो मिला है. वीडियो की जांच के निर्देश दिए गए हैं.

इसके साथ ही सराकेला थाना की पुलिस को भीड़ में शामिल अन्य लोगों (अज्ञात) की पहचान कर गिरफ्तार करने को कहा है. पुलिस इस मामले में निष्पक्ष और सख्त कार्रवाई करेगी.

पुलिस अधीक्षक ने इस बात से इनकार किया कि भीड़ ने तबरेज अंसारी को हिन्दूवादी नारा लगाने को कहा और इसी बिना पर उसकी पिटाई की गई.

इस बीच सरायकेला थाना की पुलिस ने आला अधिकारियों को बताया है कि युवक के चोरी में संलिप्तता के तथ्य मिले हैं.

पुलिस के मुताबिक प्रांरभिक अनुसंधान में ये बात सामने आई है कि तबरेज अंसारी के साथ तीन लोग थे. लेकिन दो युवक भागने में सफल रहे. ग्रामीणों ने तबरेज़ को धातकीडीह के कमल महतो की छत से कूदते हुए देखा था. उनके साथ दो और लोग थे, जो भाग गए.

उससे पहले पुलिस ने तबरेज अंसारी का इलाज कराकर कोर्ट में पेश किया था. जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में सरायकेला जेल भेज दिया गया. बाद में उसकी तबीयत बिगड़ी.

राजनीतिक प्रतिक्रिया

इधर झारखंड जनतांत्रिक महासभा ने इस घटना की निंदा की है. झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकारी अध्यक्ष और नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन ने भी ट्वीट करके इसे भयावह और शर्मनाक बताया है. साथ ही सख्त कार्रवाई करने पर जोर दिया है.

इस बीच झारखंड कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डॉ अजय कुमार ने इस घटना की जांच के लिए पार्टी की एक कमेटी गठित की है. डीपी चांपिया के नेतृत्व में कालीचरण मुंडा, रामाश्रय प्रसाद, आनंद बिहारी दूबे, सन्नी सिंकू और छोटेराय किस्कू घटना की जांच करेगे. और पीड़ित परिवार से मिलकर आर्थिक सहायता भी प्रदान करेगी.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More