नक्सली हमला: रियल रिपोर्ट से बेपरवाह सीएम और भाजपा नेताओं के दावे

Ranchi: शुक्रवार के दिन लातेहार में जो नक्‍सली हमला हुआ है, पुलिस के चार जवान शहीद हो गये हैं. अब संभवत: विपक्षी दलों द्वारा झारखंड में पांच चरणों में चुनाव पर सवाल खड़ा नहीं होगा. चुनाव आयोग ने झारखंड के 81 में 67 सीटों को नक्‍सल प्रभावित बताते हुए शांतिपूर्ण मतदान के लिए पांच चरणों में चुनाव कराने का ऐलान किया है. अब यह सवाल जरूर खड़ा होता है कि झारखंड में नक्‍सलवाद और अपराध पर राज्‍य के मुख्‍यमंत्री और सत्‍ताधारी दल भाजपा के नेता झूठ क्‍यों बोलते हैं.

जेपी नड्डा के चुनावी भाषण में नक्‍सलवाद पर रघुवर सरकार की तारीफ

लातेहार के चंदवा थाना के लुइका गांव के पास नक्‍सली हमला में चार पुलिसकर्मी मारे गये. इस घटना के कुछ घंटे पहले ही भाजपा के कार्यकारी अध्‍यक्ष जेपी नड्डा घटनास्‍थल के कुछ ही दूरी में चुनावी सभा की. इस सभा में जेपी नड्डा ने कहा कि उग्रवाद के कारण लोगों का जीवन तबाह था, लेकिन पांच साल के कार्यकाल के दौरान रघुवर सरकार ने नक्सलवाद को पूरी तरह खत्म कर दिया. अब देर रात भी लोग घरों से निर्भीक होकर निकलते हैं.

पुलिस की सतर्कता

इधर भाजपा नेता नक्‍सलवाद सफाये पर मुख्‍यमंत्री रघुवर दास के तारीफ की पुल बांध रहे थे. वहीं दूसरी ओर में चुनाव में नक्‍सवाद की गंभीरता को देखते हुए राजधानी पुलिस मुख्‍यालय रांची में इससे निपटने की नई रणनीति तय की जा रही थी. इस महत्‍वपूर्ण बैठक में डीजीपी खुद मौजूद थे और खुफिया तंत्र को बेहतर करने के उपाय में लगे हुए थे. डीजीपी इंटर स्टेट को-ऑर्डिनेशन कमेटी की बैठक कर रहे थे.

इस बैठक में डीजीपी ने खुफिया तंत्र की सूचनाओं को ससमय साझा करने के और संयुक्त तौर पर अभियान चलाने पर बल दिया. साथ ही झारखंड से संबंधित सीमावर्ती क्षेत्रों के एसएसपी/एसपी को चेक-पोस्ट चिह्नित कर वहां समय-समय पर चेकिंग अभियान चलाने को भी कहा. डीजीपी ने हाल में झारखंड में हुई नक्सली घटनाओं को देखते हुए ग्रामीण क्षेत्रों में औचक जांच अभियान चलाने का सुझाव दिया. 

सीएम रघुवर दास का इंटरव्‍यू

इधर चुनाव के दौरान लगातार कुछ दिनों से प्रमुख अखबारों में मुख्‍यमंत्री रघुवर दास के इंटरव्‍यू छप रहे हैं. अपनी बड़ी-बड़ी तस्‍वीरों के साथ मुख्‍यमंत्री इस इंटरव्‍यू में झारखंड में नक्‍सलवाद के सफाये को अपनी पांच बड़ी उपलब्ध्यिों में गिना रहे हैं. इंटरव्‍यू में छपा है कि राज्‍य को भयमुक्‍त करना सबसे बड़ी उपलब्धि है. राज्‍य को उग्रवाद से मुक्‍त किया. आज लोग बिना किसी डर-भय के कहीं भी आ जा सकते हैं.

राजनाथ सिंह ने थपथपाई थी रघुवर दास की पीठ

नक्‍सलवाद के खिलाफ रघुवर सरकार के अभियान की तारीफ करने वालों में अकेले जेपी नड्डा नहीं हैं. मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में गृहमंत्री रहते राजनाथ सिंह भी रांची आकर मुख्‍यमंत्री रघुवर दास की पीठ थपथपा चुके हैं. 11 मई 2018 को राजनाथ सिंह ने रांची की मीडिया से बात करते हुए कहा था कि  झारखंड सरकार काफी अच्छा काम कर रही है और विशेषकर नक्सल समस्या के मामले में राज्य सरकार का काम पूरे देश में बेहतरीन है, साथ ही उन्होंने इस बात पर बल दिया कि नक्सलवाद का खात्मा उनकी सरकार का लक्ष्य है. 

राजनाथ सिंह ने कहा था कि राज्य पुलिस विशेष तौर पर बधाई की पात्र है. राज्य सरकार ने सीआरपीएफ के लिए जो आधारभूत संरचना उपलब्ध करायी है, वह श्रेष्ठ है. इन सब चीजों से दिखता है कि राज्य सरकार नक्सल समस्या को समाप्त करने के लिए कितना गंभीर है.

सिंह ने कहा था- ‘काफी कम समय में उम्मीद से ज्यादा सफलता प्राप्त की गई है. भारत का गृह मंत्री होने के नाते गौरव का भाव मन में आता है. इसके लिए मुख्यमंत्री रघुवर दास की सरकार की जितनी प्रशंसा की जाए कम है.

झारखंड में पांच चरणों में चुनाव

हरियाणा में 90 सीटों और महाराष्‍ट्र में 288 सीटों पर एक ही चरण में चुनाव शांतिपूर्ण चुनाव संपन्‍न कराए गये. इसलिए चुनाव आयोग के सामने झारखंड में भाजपा को छोड़ सभी राजनीतिक दलों ने भी महाराष्‍ट्र और हरियाणा के तर्ज पर एक ही चरण में चुनाव कराने का सुझाव दिया था. लेकिन जब झारखंड के लिए चुनाव की तारीखों का ऐलान किया गया तो चुनाव आयोग ने यहां पांच चरणों में मतदान करने का ऐलान किया. चुनाव आयोग ने तब कहा कि झारखंड के 81 सीटों में 67 सीट नक्‍सल प्रभावित हैं.

जेपी नड्डाझारखंडनक्‍सलवादनक्सली हमलाराजनाथ सिंहरियल रिपोर्टलातेहारसीएम रघुवर दास का इंटरव्‍यूjharkhandLATEHARNaxalraghubar das jharkhand
Comments (0)
Add Comment