झारखंड चुनाव: बागी हुए भाजपा के अनंत देव, भानु प्रताप के खिलाफ भरा निर्दलीय पर्चा

Ranchi: झारखंड विधानसभा चुनाव के पहले चरण के नामांकन दाखिल करने के अंतिम दिन बुधवार को पूर्व मंत्री भानु प्रताप शाही ने भवनाथपुर विधानसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार के रूप में नामांकन पत्र दाखिल किया. इसके अलावा अनंत प्रताप देव ने भाजपा से विद्रोह करते हुए निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में पर्चा दाखिल कर दिया. इससे पहले झारखंड विकास मोर्चा (झाविमो), लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) सहित अन्य उम्मीदवारों ने भी नामांकन भरा.

पिछला विधानसभा चुनाव 2014 में अनंत प्रताप देव ने भाजपा के सिंबल पर लड़ा था और हार गये थे. उन्हें नवजवान संघर्ष मोर्चा के भानु प्रतापी शाही ने ही हराया था. अनंत प्रताप पहले कांग्रेस पार्टी में थे लेकिन पिछले विधानसभा चुनाव के नामांकन के ठीक पहले उन्होंने पाला बदल लिया था और भाजपा में आ गये थे. इस बार भी वे सशक्त दावेदार माने जा रहे थे. टिकट की रेस में भी थे लेकिन भाजपा का टिकट नहीं मिलने पर उन्होंने निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया था.

भानु प्रताप शाही निर्दलीय मुख्यमंत्री मधु कोड़ा के मंत्रिमंडल में स्वास्थ्य मंत्री थे. उस समय उन पर वित्तीय अनियमितता, भ्रष्टाचार और करोड़ों के घोटाले के आरोप लगे. करोड़ों के दवा घोटाले और आय से अधिक संपत्ति मामले में भानु जेल भी जा चुके हैं. सीबीआई और ईडी ने भी शिकंजा कसा था. यह मामला अभी कोर्टे में है. 

assembly electionground reportjharkhand
Comments (0)
Add Comment