गोडसे को देशभक्त बताने पर प्रज्ञा के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई

New Delhi: भारतीय जनता पार्टी ने गुरुवार को भोपाल से सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के लोकसभा में दिए बयान की निंदा करते हुए उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की है. 

भारतीय जनता पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि पार्टी इस तरह के विचारों का समर्थन नहीं करती है.बुधवार को सदन में पेश हुए एसपीजी संशोधन विधेयक पर बहस के दौरान द्रमुक सांसद ए. राजा ने बहस में महात्मा गांधी की हत्या से जुड़े नाथूराम गोडसे का नाम लिया था. यह सुनते ही भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने अपनी सीट पर खड़ी होकर गोडसे को देशभक्त बताया और ए. राजा के बयान का विरोध किया. इसपर सदन में तुरंत हंगामा हुआ और लोकसभा की कार्यवाही से उनके बयान को हटा दिया गया. नड्डा ने बताया कि साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को रक्षा मामलों की सलाहकार समिति से हटा दिया गया है और इस सत्र में उनके पार्टी संसदीय दल की बैठकों में भाग लेने पर रोक लगा दी गई है. 

कांग्रेस ने बुधवार को लोकसभा में भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर द्वारा महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को कथित तौर पर देशभक्त बताने की निंदा की थी.

कांग्रेस के अधिकारिक ट्वीटर खाते से कहा गया कि बार-बार नाथूराम गोडसे को एक ‘देशभक्त’ के रूप में संदर्भित करना भाजपा की विक्षिप्त नफरत की राजनीति का प्रतिनिधित्व है. क्या पीएम मोदी प्रज्ञा ठाकुर की टिप्पणी की निंदा करेंगे या चुप रहेंगे? 

ताज़ा ख़बरब्रेकिंग न्यूज़हिन्दी समाचारbreaking news in hindiheadlines in hindihindi samacharindia Newslatest news in hindiNews in Hindithe wire हिंदी
Comments (0)
Add Comment