जम्‍मू-कश्‍मीर में अमित शाह का कार्यक्रम और सुरक्षा इंतजाम

by

Srinagar: केंद्रीय मंत्री अमित शाह बुधवार को अमरनाथ गुफा में बाबा बर्फानी का दर्शन करने के साथ जम्मू एवं कश्मीर की अपनी दो दिवसीय यात्रा की शुरुआत करेंगे.

केंद्रीय गृह मंत्री के दौरे के कार्यक्रम के जानकार एक सूत्र ने कहा कि शाह आज श्रीनगर पहुंचेंगे और फिर दर्शन व पूजा-अर्चना के लिए अमरनाथ गुफा मंदिर पहुंचेंगे.

सूत्र ने कहा, ‘‘श्री अमरनाथजी श्राइन बोर्ड द्वारा एक विशेष प्रार्थना व पूजन  का आयोजन किया जा रहा है जिसमें आज शाह भाग लेंगे.’’

इस साल की वार्षिक अमरनाथ यात्रा 1 जुलाई से शुरू हो रही है और 15 अगस्त को समाप्त होगी.

बाबा बर्फानी का दर्शन करने के बाद, केंद्रीय गृह मंत्री इस साल कोई बुरी घटना मुक्त यात्रा सुनिश्चित करने के लिए किए गए सुरक्षा व्यवस्था से संबंधित एक उच्च स्तरीय सुरक्षा समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करेंगे.

उसी सूत्र ने बताया कि इसके बाद राज्य में समग्र सुरक्षा और आतंकवाद-रोधी उपायों की समीक्षा के लिए एक और सुरक्षा बैठक होगी.

सूत्र ने कहा, ‘‘गृह मंत्री राज्य के राज्यपाल सत्यपाल मलिक के साथ बातचीत करेंगे और राजभवन में रात बिताएंगे.’’

शाह कल श्रीनगर शहर के चेशमा शाही इलाके में स्थित नेहरू गेस्ट हाउस में राज्य के भाजपा नेताओं और पंचायतों के सदस्यों से मुलाकात करेंगे.

वह सिविल सोसाइटी के सदस्यों के प्रतिनिधिमंडल, पर्यटन से जुड़े लोगों के प्रतिनिधिमंडल और कुछ युवा प्रतिनिधिमंडलों से भी मुलाकात करेंगे.

दिल्ली लौटने से पहले केंद्रीय गृह मंत्री के कल श्रीनगर में एक मीडिया कॉन्फ्रेंस को संबोधित करने की संभावना है.

शाह देश के गृह मंत्री के रूप में कार्यभार संभालने के बाद राज्य की अपनी पहली यात्रा के दौरान जम्मू और लद्दाख संभाग का दौरा नहीं कर रहे हैं.

शाह की घाटी की यात्रा पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है. श्रीनगर में डल झील के पास से गुजरने वाले बुलेवार्ड रोड पर दो दिनों के लिए यातायात की आवाजाही पर प्रतिबंध की घोषणा की गई है.

दो दिवसीय यात्रा के दौरान शाह की मुख्य गतिविधियां शेर-ए-कश्मीर इंटरनेशनल कन्वेंशन कॉम्प्लेक्स (एसकेआईसीसी), नेहरू गेस्ट हाउस और राज्य के राज भवन में हो रही हैं.

ये सभी कार्यक्रम स्थल श्रीनगर में बुलेवार्ड रोड के पास स्थित हैं.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.