Take a fresh look at your lifestyle.

अमित शाह की चुनावी सभा में रह गयीं कुर्सियां खाली

0

Jamshedpur: भारतीय जनता पार्टी (BJP) के अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah in Jamshedpur) की टाटा एग्रिको मैदान में आयोजित चुनावी सभा में कुर्सियां खाली रह गयीं. यह राजनीतिक गलियारों के साथ-साथ सोशल मीडिया में चर्चा का टॉपिक बन गया है. इससे झारखंड के बीजेपी लीडरों की बेचैनी बढ़ गयी है. वहीं विपक्ष को एक मौका भी मिल गया है.

जमशेदपुर में अमित शाह की सभा (Amit Shah Rally) की खाली कुर्सियों की तस्‍वीरें और वीडियो विपक्षी नेताओं के द्वारा सोशल मीडिया पर खूब पोस्‍ट और शेयर किये जा रहे हैं.

बड़ी बात यह है कि यह झारखंड के मुख्‍यमंत्री रघुवर दास (Raghubar Das) का इलाका है. जमशेदपुर बीजेपी की सीटिंग सीट है. यह भाजपा का बहुत ही सुरक्षित सीट माना जाता है.

इससे पहले धनबाद की रैली (Amit Shah in Dhanbad) में शामिल होने के बाद भाजपा अध्यक्ष यहां पहुंचे थे. हालांकि धनबाद में भाजपा की सभा में खासी भीड़ जुटी. शंख बजाये गये. भारत के जयकारे लगे और भाजपा अध्यक्ष के भाषण पर तालियां भी बजी.

क्‍यों रह गयी कुर्सियां खाली

लेकिन जमशेदपुर में सभा की तस्वीरें बदली सी नजर आयी. बीजेपी के अंदरखाने से छन कर निकली खबरों के मुताबिक बीजेपी के कैडरों ने ही भाजपा उम्मीदवार को चुनौती दे डाली. ग्रामीण क्षेत्र से सभा में शिरकत करने कम लोग आये. जबकि शहरी कार्यकर्ताओं ने भी दिलचस्‍पी नहीं दिखायी.

जो तस्वीरें सामने आई हैं उनमें आगे की पांच लाइन की कूर्सियों के बाद से ढेर सारी कूर्सिया खाली थीं  दूसरी और तीसरी कतार में बैठे कार्यकर्ता और समर्थक भाजपा अध्यक्ष का कटआउट उठाए हुए दिख रहे हैं. लेकिन तमाम कोशिशों के बाद भी  एग्रिको ट्रांसपोर्ट मैदान नहीं भर सका.

हालांकि बीजेपी खेमा इसे चलचिलाती धूप का असर मानता रहा. सभा शुरू होने से पहले महानगर अध्यक्ष दिनेश कुमार कई बार मंच से माइक पर बोलते रहे कि जो कार्यकर्ता पेड़ की छांव में खड़े हैं वे शामियाने के नीचे लगी कुर्सियों पर आकर बैठ जायें.

सहयोगी न्‍यूज पोर्टल पब्लिक बोल ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि पार्टी के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया है कि इन परिस्थितियों के लिए मुख्य कारण प्रत्याशी विद्युतवरण महतो और जमशेदपुर महानगर इकाई में तालमेल का अभाव है.

प्रत्याशी विद्युतवरण महतो अपने आवास और बिष्टुपुर कार्यालय से समानांतर कार्यालय चला रहे हैं. जबकि साकची में भव्य चुनाव कार्यालय के उद्घाटन के दिन के बाद से वे यहां बहुत कम बार आये हैं. समन्वय और संवादहीनता की भी यही स्थिति है.

सीएम ने ली बीजेपी कार्यकर्ताओं की क्‍लास

खबरों के मुताबिक मुख्यमंत्री रघुवर दास ने एग्रिको की सभा की ये हाल देखकर सीएम रघुवर दास ने महानगर के पदाधिकारियों की क्लास भी लगायी. रात में उन्होंने अपने आवास पर बैठकर वन टू वन बातें कर स्थिति की समीक्षा की और कार्यकर्ताओं का मन मिजाज टटोला. साथ ही सख्त हिदायतें भी दी. सीएम इस बात से नाराज थे कि पिछली बार उनके द्वारा दिये गये निर्देश पर महानगर भाजपा और भाजयुमो की महानगर इकाई मतदाताओं से जन संपर्क में पसीना बहाया होता तो ये नौबत नहीं आती.

जेएमएम ने कहा- चुनावी सभा फ्लॉप

इधर झारखंड मुक्ति मोर्चा ने मौका ताड़ते हुए जमशेदपुर में एक प्रेस कांफ्रेस कर दावा किया है कि भाजपा अध्यक्ष की चुनावी सभा फ्लॉप हो गयी. लोगों का सभा में नहीं आना इस बात के संकेत हैं कि जमशेदपुर में बीजेपी चुनाव हारने जा रही है.

झामुमो के केंद्रीय महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा है कि वैसे भी साधन सुविधा और सरकारी तंत्र का इस्तेमाल कर ही अब तक भाजपा कार्यक्रमों में भीड़ जुटाती रही है.

जेएमएम 9 मार्च को जमशेदपुर में रोड शो की तैयारी में जुटा है. इसके लिए विपक्षी दलों के नेता कार्यकर्ता को बुलाया गया है. जमशेदपुर में जेएमएम का मुकाबला भाजपा से है. पिछले बार विद्युतवरण महतो ने जेवीएम और जेएमएम को यहां हराया था.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More