तृणमूल के गढ़ में अमित शाह की हुंकार- दीदी की सरकार को उखाड़ फेंकेंगे

by

Kolkata: मंगलवार को मालदा में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने दीदी की सरकार को चुनौती दी और कहा कि ममता दीदी और उनकी पार्टी तृणमूल कांग्रेस सुन लें. इस बार लोकसभा चुनाव में बंगाल में उनकी ईंट से ईंट बजा देंगे. ममता दीदी को डर था कि बंगाल में हमारी यात्रा निकलती है, तो उनकी सरकार की अंतिम यात्रा निकल जाएगी.

अमित शाह मालदा में बीजेपी की एक रैली को संबोधित कर रहे थे. बीजेपी अध्यक्ष पूरे  तेवर में थे और उन्होंने रैली में इस बात पर जोर दिया कि बंगाल में ममता दीदी की सरकार को उखाड़ फेंकने का यही सही वक्त है.

पंचायत चुनाव वाली गलती लोकसभा चुनाव में मत करना

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि पंचायत चुनाव हुए थे, उस दौरान बड़ी संख्या में हमारे कार्यकर्ताओं की हत्या हुई. रैली में शामिल कार्यकर्ताओं,समर्थकों से कहता हूं और टीएमसी को भी आगाह कराता हूं कि पंचायत चुनाव वाली गलती लोकसभा चुनाव में मत करना. यह चुनाव बंगाल सरकार के अंदर नहीं होने वाला है. यह चुनाव आयोग की अंदर होगा और चप्पे-चप्पे पर यहां पैरामिलिट्री होगी.’

amit shah rally in malda wb

रैली को संबोधित करते हुए शाह ने कहा, ‘यह चुनाव पार्टियों के बीच का चुनाव है. यह बंगाल की संस्कृति को समाप्त करने वाली टीएमसी को हराने का चुनाव है. यह बंगाल की जनता को निर्णय लेना है कि संस्कृति को बचाने वाली बीजेपी को लाएंगे या उनकी संस्कृति को खत्म करने वाली टीएमसी को.

एक बार कमल खिला दीजिए

उन्होंने कहा कि बंगाल की जनता को वे आश्वस्त करने आए हैं कि एक बार कमल खिला दीजिए, बंगाल का बीजेपी कायापलट कर देगी. हिंसा और घुसपैठिए की राजनीति खत्म कर देंगे.

उन्होंने कहा कि शर्णार्थियों की हिमायत करने वाली, गो तस्करी और अफीम के कारोबार को बढ़ावा देने वाली ममता दीदी की सरकार को हटाने का सही वक्त आ गया है. बंगाल में एक बार कमल की सरकार बन गई, तो गायों की तस्करी खत्म कर दी जाएगी. बंगाल के नागरिकों को वह सुविधाएं मिलेगी, जिसके लिए वे तृणमूल की सरकार से संघर्ष कर रहे हैं.

टीएमसी ने बंगाल को किया कंगाल

एक लंबे के समय कम्युनिस्ट शासन और ममता दीदी के शोषण के बाद आज बंगाल जहां है, उसकी कल्पना आप नहीं कर सकते. एक समय बंगाल का औद्योगिक उत्पादन दर 27 फीसदी था जो आज 3.3 फीसदी रह गया है. बंगाल को टीएमसी ने कंगाल बना दिया.

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि नागरिकता संशोधन बिल लाने का मकसद साफ है. ममता दीदी बताएं कि वे नागरिकता संशोधन बिल का समर्थन करेंगी या नहीं. इस बार लोकसभा चुनाव में यह भी बड़ा मुद्दा होगा.

अमित शाह ने यह भी कहा कि  देश के आजाद होने के बाद पश्चिम बंगाल हर जगह देश का नेतृत्व करता था. कला, संस्कृति और हर क्षेत्र में बंगालियों का नाम था. एक लंबे के समय कम्युनिस्ट शासन और ममता दीदी के शोषण के बाद आज बंगाल जहां है, उसकी कल्पना आप नहीं कर सकते.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.