कोरोनावायरस पर चीन से हर्जाना वसूलेगी अमेरिका की ट्रंप सरकार

by

अमेरिका का कहना है कि वह चीन से कोरोना वायरस का हर्जाना वसूलेगा. व्हाइट हाउस में एक प्रेस वार्ता में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा, ‘इस वायरस को जल्दी रोका जा सकता था और (तब) यह पूरी दुनिया में नहीं फैला होता.’ उनका आगे कहना था, ‘कई तरह से आप उन्हें जिम्मेदार ठहरा सकते हैं. जैसा कि शायद आप लोग जानते होंगे, हम लोग काफी गंभीरता से जांच कर रहे हैं.’ डोनाल्ड ट्रंप का कहना था कि चीन ने अमेरिका सहित पूरी दुनिया का नुकसान किया है.

खबरें हैं कि जर्मनी ने चीन से 130 अरब यूरो का हर्जाना मांगा है. डोनाल्ड ट्रंप से इसी को लेकर सवाल किया गया था. इस पर उनका कहना था, ‘जर्मनी चीजों को देख रहा है और हम भी अभी चीजों को देख रहे हैं.

जर्मनी जितने डॉलर मांगने के बारे में विचार कर रहा है, उससे ज्‍यादा हर्जाना मांगने पर हम चर्चा कर रहे हैं. हमने अभी अंतिम धनराशि पर फैसला नहीं किया है.’

अमेरिका चीन पर कोरोना वायरस को लेकर सूचनाएं छिपाने का आरोप लगाता रहा है. वह यह भी कहता रहा है कि यह वायरस चीनी प्रयोगशालाओं की उपज है. डोनाल्ड ट्रंप कोरोना वायरस को कई बार चीनी वायरस कह चुके हैं. उधर, चीन इन सभी आरोपों को खारिज करता रहा है. उसका कहना है कि औरों की तरह वह भी कोरोना वायरस का पीड़ित है.

उधर, डोनाल्ड ट्रंप ने यह भी कहा है कि कोरोना वायरस के चलते राष्ट्रपति चुनाव की तारीख आगे नहीं बढ़ाई जाएगी. यह चुनाव इसी साल तीन नवंबर को होना है. खबरों को मुताबिक डोनाल्ड ट्रंप ने कहा, ‘मैंने चुनाव की तारीख बदलने के बारे में सोचा तक नहीं. मैं ऐसा क्यों करूंगा! तीन नवंबर. यह एक अच्छा अंक है.’

पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के मामलों का आंकड़ा 30 लाख को पार कर गया है. कुल मौतों की संख्या दो लाख के ऊपर जा चुकी है. सबसे ज्यादा प्रभावित अमेरिका ही है जहां 10 लाख से ज्यादा लोग संक्रमण की चपेट में हैं और 56 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.