अमरिंदर सिंह बने रहेंगे पंजाब के सीएम, नवजोत सिंह सिद्धू को मनाने के लिए कांग्रेस ने तैयार किया फार्मूला

by

Chandigarh: पंजाब सियासी संकट को लेकर कांग्रेस ने हल करने का फार्मूला निकाल लिया है. इस फार्मूले के अनुसार कैप्‍टन अमरिंदर सिंह पंजाब के सीएम बने रहेंगे. वहीं इस फार्मूले के तहत नवजोत सिंह सिद्धू को बड़ी जिम्‍मेदारी देकर खुश की जाएगी. नवजोत पंजाब के कांग्रेस अध्‍यक्ष होंगे. इसकी जानकारी कांग्रेस नेता हरीश रावत ने देते हुए पुष्टि भी की है.

बता दें कि पंजाब में कांग्रेस के अंदरखाने में सियासी घमासान मचा हुआ था. सीएम कैप्‍टन अमरिंदर सिंह गुट और सिद्ध के बीच मतभेद बढ़ गए थे.

कांग्रेस नेता हरीश रावत ने कहा कि पंजाब में कोई सयिासी संकट नहीं है. कैप्‍टन अमरिंदर सिंह पंजाब के सीएम बने रहेंगे. साथ ही उन्‍होंने कहा कि आने वाले पंजाब विधानसभा चुनाव में कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ही सीएम पद के लिए पार्टी का चेहरा बनेंगे. उन्‍होंने नई जानकारी देते हुए बताया कि आलाकमान ने फैसला लिया है कि पंजाब कांग्रेस के अध्‍यक्ष पद की जिम्‍मेदारी अब नवजोत सिंह सिद्धू संभालेंगे.

Read Also  महाराष्‍ट्र के पूर्व मंत्री और बड़े कारोबारी ने रची थी हेमंत सरकार गिराने की साजिश!

बता दें कि हरीश रावत कांग्रेस हाईकमान की ओर पंजाब सियासी कलह को सुलझाने के लिए बनाई गई के सदस्‍य हैं. हरीश रावत ने यह भी कहा कि दो प्रदेश कार्यकारी भी बनाए जा सकते हैं. जिसमें एक हिंदू सवर्ण समुदाय और दूसरा दलित समुदाय से होगा.

पंजाब सियासी समाधान

पंजाब में कुर्सी के लिए कांग्रेस में बड़ा विवाद था. जो थमने का नाम नहीं ले रहा था. इसे देखते हुए वहां बैठक पर बैठकें हो रही थी. समस्‍या को सुलझाने के लिए कांग्रेस हाईकमान को दखल करना पड़ा. इस बीच दिनों नवजोत सिंह सिद्धू ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी से मुलाकात की थी. वहीं, सीएम केप्टन अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात कर मौजूदा समस्या से उन्हें अवगत कराया था. जिसके बाद काफी मंथन के बाद सुहल का फार्मूला तैयार किया गया.

Read Also  हेमंत सरकार गिराने की साजिश में शामिल कांग्रेसी विधायकों के खिलाफ हो सकती है कार्रवाई

गौरलब है कि बीजेपी से कांग्रेस में शामिल होने के बाद से ही सिद्धू का कैप्टन अमरिंदर सिंह से विवाद गहराता जा रहा था. पंजाब में कांग्रेस का विवाद इतना बढ़ गया था कि कांग्रेस हाईकमान को बीच में आना पड़ा. लेकिन अब लगता है पंजाब कांग्रेस सुलह के रास्ते पर आ गयी है. और इस फैसले से सिद्धू और कैप्टन गुट दोनों खुश है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.