बिरसा मुंडा जयंती को “उलगुलान दिवस” के रुप में मनाएगी आजसू पार्टी

by

Ranchi: 15 नवंबर-धरती आबा भगवान बिरसा मुंडा जयंती के अवसर पर आजसू पार्टी राज्य के सभी 260 प्रखण्डों में उलगुलान दिवस मनाएगी. आजसू ने कहा है कि जल, जंगल, जमीन एवं खनिज की सुरक्षा और अस्मिता की खातिर अंग्रेजों, जमींदारों और शोषकों के खिलाफ आवाज़ बुलंद करनेवाले धरती आबा भगवान बिरसा ने अबुआ दिशुम, अबुआ राज की परिकल्पना की थी, जो अभी भी अधूरा है.

आजसू के केंद्रीय प्रवक्‍ता डॉ देवशरण भगत की ओर से जारी प्रेस नोट में कहा गया है कि हमें शासन तो मिला, लेकिन स्वशासन अभी भी बाकी है. धरती आबा के सपने पूरे करने तथा एकजुट होकर राज्य के नवनिर्माण के लिए नई तस्वीर गढ़ने के लक्ष्य के साथ आजसू पार्टी ने राज्य के सभी प्रखण्डों में उलगुलान दिवस मनाने का निर्णय लिया है.

हम भगवान बिरसा और झारखण्ड के वीर शहीदों के सपनों के झारखण्ड का निर्माण करने के लिए कुछ कदम चले हैं लेकिन काफी कदम चलना अभी भी बाकी है. उनके अरमानों को मंजिल तक पहुंचाना ही आजसू पार्टी का राजनैतिक दायित्व है. जिस धरती आबा को सामने रखकर झारखण्ड का गठन किया गया, उसके पीछे के संघर्ष और उद्देश्य को निश्चित रुप से स्थापित करना ही हमारा लक्ष्य है.

बिरसा मुंडा के उलगुलान और सपने नए आकार लें, इसके लिए युवा पीढ़ी को आगे आना होगा. उलगुलान दिवस के दिन धरती आबा को श्रद्धांजलि अर्पित करने के पश्चात आजसू पार्टी के सभी नेता, कार्यकर्ता एवं समर्थक भगवान बिरसा के “स्वराज” के सपने की परिकल्पना को साकार करने तथा झारखण्ड और झारखण्डियत के संरक्षण का संकल्प लेंगे.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.