Take a fresh look at your lifestyle.

आजसू पार्टी का विचार मंथन शुरू, नीतियों के साथ जन मुद्दों पर संघर्ष आगे बढ़ने की तैयारी

0 63

Ranchi: विधानसभा चुनाव के नतीजे के बाद राज्य की मौजूदा राजनीति और सांगठनिक कार्यक्रमों, एजेंडा तथा नीतियों पर आज से आजसू पार्टी में विचार मंथन शुरू हुआ. पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो की अगुवाई में चुनाव लड़े प्रमुख उम्मीदवारों के साथ ही केंद्रीय पदाधिकारी भी मौजूद रहे.

केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो ने कहा कि विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद यह दूसरी अहम बैठक है, जिसमें पार्टी की राजनीतिक दिशा पर विचार किया जा रहा है. इससे पहले 7 जनवरी को केंद्रीय कार्यसभा की बैठक में नतीजे को लेकर गहन चर्चा की गई थी.

चुनाव के दौरान कई नए लोग भी पार्टी से जुड़े हैं और उनका अनुभव दल के प्रति सकारात्मक रहा है. यह बेहतर संकेत है. आजसू पार्टी का परिवार बड़ा हुआ है. कई लोगों के जुड़ने से सोच विचार का दायरा भी बढ़ा है. उन्होंने कहा कि चुनाव में 12 लाख से अधिक वोट पार्टी को मिले हैं. इस जनमत का विश्वास और मजबूत बनाना है.

विचार मंथन में केंद्रीय अध्यक्ष ने सबकी बातें सुनी और कहा कि कल तक हमलोग इस नतीजे पर पहुंच सकेंगे कि बदली राजनीतिक परिस्थितियों में अपनी जगह स्थापित करने के लिए किन एजेंडा पर काम करना है.

उन्होंने कहा कि आजसू पार्टी राज्य की ज्वलंत समस्याओं के समाधान तथा जन मुद्दों पर संघर्ष को आगे बढ़ाने के लिए पहले की तरह प्रतिबद्ध है और आम अवाम को यह महसूस नहीं होने देंगे कि चुनाव की तारीखों के साथ या उसके परिणाम से पार्टी की गतिविधियों पर कोई प्रभाव पड़ने जा रहा है.

उन्होंने कहा कि झारखंड में गठबंधन की नई सरकार बनी है. एक विपक्षी और जमीन से जुड़े राजनीतिक दल होने के नाते सरकार के कामकाज और जनता से किए वादे पर हम सभी नजर रखें, इसकी भी जवाबदेही तय करने की जरूरत है.

विचार मंथन के पहले दिन कई उम्मीदवारों और केंद्रीय पदाधिकारियों ने अपनी बातें रखी. उन्होंने अनुभव भी बताए और कहा कि आजसू पार्टी ने पूरी मजबूती के साथ चुनाव लड़ा. समीकरणों के लिहाज से बड़ी जीत में परिणाम को नहीं बदला जा सका.

इससे पहले पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय बसु मल्लिक ने आजसू पार्टी की नीति, नीयत, सांगठनिक ढांचा और काम करने के तौर तरीके से सभी को अवगत कराया. उन्होंने यह भी बताया कि इस झारखंडी पार्टी का एक इतिहास है और उसने झारखंड के हितों से कभी समझौता नहीं किया है. सांगठनिक ढांचा को और कैसे मजबूत किया जाए और किन कार्यक्रमों के साथ आगे बढ़ा जाए, इसके लिए सबसे रायशुमारी कर एक नया मैप पार्टी तैयार करना चाहेगी.

इस अवसर पर मुख्य रूप से चंद्रप्रकाश चौधरी, रामचंद्र सहिस, लम्बोदर महतो, उमाकांत रजक, देवशरण भगत, कमलकिशोर भगत, डोमन सिंह मुंडा, राधाकृष्ण किशोर, कुशवाहा शिवपूजन मेहता, रोशनलाल चौधरी, जयंत घोष, मंटू महतो, तिवारी महतो, रामलाल मुंडा, बिरसा मुंडा, रामधन बेदिया,वर्षा गाड़ी, हरेलाल महतो, रामदुर्लभ सिंह मुंडा, संजय बसु मालिक, विनय भरत, नंदू पटेल, प्रो. रविशंकर, भरत काशी साहू, नन्दलाल बिरूआ इत्यादि उपस्थित थे

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.