छठी जेपीएससी की गड़बड़ियों पर कार्रवाई करे सरकार: आजसू विधायक

by

Ranchi: झारखंड विधानसभा का बजट सत्र भले ही हंगामे की भेंट चढ़ रहा हो. लेकिन, सदन के बाहर छठी जेपीएससी का मुद्दे की आंच हर रोज तेज होती जा रही है. छठी जेपीएससी सिविल परीक्षा रद्द करने की मांग के लिए सत्‍याग्रह कर रहे अभ्‍यर्थियों को विपक्ष और सत्‍ता पक्ष के विधायकों का लगातार समर्थन मिल रहा है. इसी क्रम में आजसू के गोमिया विधायक लंबोदर महतो मंगलवार को आंदोलित छात्रों से मिले.

अनिश्चितकालीन सत्याग्रह के 15वें दिन गोमिया विधायक लंबोदर महतो मोराबादी के बापू वाटिक के पास धरना स्थल पहुंचे और जेपीएससी आंदोलनकारियों को अपना समर्थन दिया. इस दौरान आजसू विधायक ने छठी जेपीएससी को रद्द करने को लेकर हर संभव प्रयास करने की बात अभ्यर्थियों से कही है.

Read Also  MLA प्रदीप व बंधु की सदस्‍यता रद्द करने के लिए विधानसभा न्‍यायाधिकरण में याचिका दायर

मौके पर छठी जेपीएससी नियुक्ति प्रक्रिया में हो रही गड़बड़ी को गंभीरता से समझते हुए लंबोदर महतो ने कहा कि बहुत गलत तरीके से छठी जेपीएससी की नियुक्ति प्रक्रिया चल रही है. उन्‍होंने अभ्‍यर्थियों को बताया कि सदन में प्रश्न डाला हुआ है जैसे ही नंबर पहुंचेगा पूरे मामले को विस्तारपूर्वक सारे मामले को जोर-शोर से रखा जाएगा.

मौके पर जेपीएससी आंदोलनकारी छात्र नेता देवेंद्र नाथ महतो ने कहा कि जब तक सरकार छठी जेपीएससी रद्द करके छात्रों के साथ न्याय नहीं करती है तब तक आंदोलन निरंतर जारी रहेगा. आगे चल कर यह आंदोलन उग्र रूप लेगा. जरूरत पड़ने पर झारखंड बंद भी बुलाया जाएगा.

गौरतलब है कि विपक्ष के विधायकों और पूर्व विधायक के अलावे सत्तापक्ष के विधायकों का भी समर्थन अब छठी जेपीएससी के विरोध में आंदोलन कर रहे इन अभ्यर्थियों को मिल रहा है. आने वाले समय में यह आंदोलन और जोर पकड़ने की संभावना है.

Read Also  मधुपुर में लगेगा सुदेश महतो समेत आजसू के बड़े नेताओं का जमावड़ा, बंगाल- उड़िसा के कार्यकर्ता भी होंगे शामिल

आंदोलन कर रहे छात्रों से अभी तक भाजपा विधायक समरी लाल, भानु प्रताप शाही, कांग्रेस विधायक अंबा प्रसाद, भाकपा माले के विधायक विनोद सिंह मिल चुके हैं और छात्रों के आंदोलन का समर्थन किया है. छठी जेपीएससी रद्द करने की मांग को लेकर अभ्‍यर्थी मुख्‍यमंत्री से कई बार मिल चुके हैं. यहां से उन्‍हें आश्‍वासन से ही संतोष करना पड़ा है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.